'5 लाख के लिए, टेस्ट क्रिकेट मर रहा है'- युवराज सिंह ने दिया बड़ा बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘5 लाख के लिए, टेस्ट क्रिकेट मर रहा है’- युवराज सिंह ने दिया बड़ा बयान

युवराज सिंह की मानें तो आने वाले समय में वनडे क्रिकेट पर भी छोटे फॉर्मेट का असर पड़ेगा।

Yuvraj Singh. (Photo by Boris Streubel/Getty Images for Laureus)
Yuvraj Singh. (Photo by Boris Streubel/Getty Images for Laureus)

पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह का कहना है कि मिडिल ऑर्डर में अच्छे बल्लेबाजों की कमी उन अहम कारणों में से एक है जिनके चलते भारत ने आईसीसी इवेंट्स में काफी संघर्ष किया है। 2011 वर्ल्ड कप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड जीतने वाले युवराज सिंह ने कहा कि, “जब हमने वर्ल्ड कप (2011) जीता था तो हम सभी के पास बल्लेबाजी करने के लिए एक निर्धारित नंबर था. मैंने 2019 वर्ल्ड कप में महसूस किया कि भारतीय टीम ने इसकी अच्छी तरह से रणनीति नहीं बनाई थी।”

युवराज ने कहा कि, 2019 वर्ल्ड कप में खिलाड़ियों को लगातार मौके न देना टीम के लिए गलत साबित हुआ। टीम ने विजय शंकर को नंबर 4 पर खिलाया जिन्होंने उस समय 5-7 मुकाबले ही खेले थे। फिर उनकी जगह ऋषभ पंत को टीम में जगह दी जिन्होंने उस समय मात्र 4 वनडे मुकाबले खेले थे। उन्होंने कहा युवराज की माने तो इन दोनों खिलाड़ियों की जगह अंबाती रायडू को टीम में शामिल करना चाहिए था। जब हम लोगों ने 2003 वर्ल्ड कप खेला था तब तक मुझे, मोहम्मद कैफ, दिनेश मोंगिया और मैंने लगभग 50 वनडे मुकाबले खेल लिए थे।

युवराज ने कहा कि, यही सामान्य परेशानी टीम इंडिया के लिए टी-20 क्रिकेट में भी है। उन्होंने कहा कि सभी खिलाड़ियों को उनकी बल्लेबाजी पोजीशन पहले से ही बता दी जाए और उसमें ज्यादा बदलाव ना किए जाए। बल्लेबाजी क्रम की वजह से ही हम पिछला टी-20 वर्ल्ड कप भी हारे थे।

कोई भी खिलाड़ी 5 दिन खेलकर 5 लाख रुपए क्यों कमाएगा: युवराज सिंह

स्पोर्ट्स 18 के होम ऑफ हीरोज, कार्यक्रम में बातचीत के दौरान युवराज सिंह ने कहा, “टी-20 और टी-10 क्रिकेट का भविष्य है। टेस्ट क्रिकेट मर रहा है। टी-20 क्रिकेट को लोग देखना चाहते हैं। खिलाड़ी टी-20 क्रिकेट खेलना चाहते हैं। कोई पांच लाख के लिए पांच दिवसीय क्रिकेट क्यों खेलेगा। आज टी-20 क्रिकेट खेलकर खिलाड़ी 50 लाख कमा लेते हैं? जिन खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में जगह नहीं बनाई है उन्हें भी 7-10 करोड़ रुपये मिल रहे हैं।”

युवराज सिंह ने आगे कहा कि, “आप एक टी-20 मैच देखते हैं और फिर 50 ओवर का मैच देखते हैं। ये अब एक टेस्ट मैच की तरह लगने लगा है। 20 ओवर के बाद, बल्लेबाज सोचते हैं कि बल्लेबाजी के लिए अभी 30 ओवर हैं! ऐसे में निश्चित तौर पर टी 20 क्रिकेट सबसे आगे निकलता जा रहा है।”