केपटाउन टेस्ट मैच से पहले कप्तान कोहली से रहाणे और पुजारा को लेकर जिस बयान की उम्मीद थी, उसे उन्होंने आखिरकार कह दिया - क्रिकट्रैकर हिंदी

केपटाउन टेस्ट मैच से पहले कप्तान कोहली से रहाणे और पुजारा को लेकर जिस बयान की उम्मीद थी, उसे उन्होंने आखिरकार कह दिया

रहाणे और पुजारा दोनों ने जोहान्सबर्ग टेस्ट मैच की दूसरी पारी में अर्धशतक लगाकर खुद की जगह को एक तरह से बचाया है।

Cheteshwar Pujara and Ajinkya Rahane. (Photo by Daniel Kalisz – CA/Cricket Australia via Getty Images/Getty Images)
Cheteshwar Pujara and Ajinkya Rahane. (Photo by Daniel Kalisz – CA/Cricket Australia via Getty Images/Getty Images)

साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय टीम को 11 जनवरी से न्यूलैंड्स के केपटाउन में 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का निर्णायक मुकाबला खेलना है। जिसको लेकर मैच से पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आखिरकार प्रेस वार्ता में हिस्सा लेते हुए प्लेइंग इलेवन पर अपने विचार व्यक्त किए। जिसमें दूसरे टेस्ट मैच में पीठ में खिंचाव की समस्या के चलते बाहर रहने वाले कोहली ने इस टेस्ट मैच में अपनी वापसी को लेकर पुष्टि की।

जिसके बाद यह तय माना जा रहा है कि दूसरे टेस्ट मैच में उनकी जगह पर शामिल किए गए हनुमा विहारी को बाहर बैठना पड़ेगा। हालांकि विहारी ने टीम के लिए काफी शानदार प्रदर्शन किया था, जिसमें पुजारा और रहाणे पर भी बड़ी पारियां खेलने को लेकर एक अतिरिक्त दबाव साफतौर पर देखने को मिल रहा है।

पिछले 1 साल में टेस्ट फॉर्मेट में भारतीय टीम का मध्यक्रम सबसे ज्यादा तकलीफ में देखा गया है, जिसके चलते टीम का काफी संघर्ष की स्थिति का भी सामना करना पड़ा है। इसमें 2 बड़े नाम चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे का फॉर्म टीम के लिए एक चिंता का विषय रहा है। जो लगातार सीरीज दर सीरीज जारी ही देखने को मिल रहा है।

लेकिन लगातार फॉर्म को लेकर आलोचना झेलने के बावजूद टीम मैनेजमैंट का भरोसा पुजारा और रहाणे पर देखने को मिला है। अब कप्तान कोहली ने भी केपटाउन टेस्ट मैच से पहले इन दोनों खिलाड़ियों पर अपना भरोसा जताते हुए कहा कि उनका अनुभव टीम के लिए काफी अहम साबित होता है, जिसमें जोहान्सबर्ग टेस्ट में दोनों ने काफी जुझारु अर्धशतकीय पारी खेली थी।

दोनों के अनुभव की आप तुलना नहीं कर सकते हैं

एक तरफ जहां भारतीय टेस्ट टीम के मध्यक्रम को लेकर श्रेयस अय्यर और हनुमा विहारी लगातार अपनी जगह को लेकर दरवाजा खटखटा रहे हैं। जिसके पीछे पुजारा और रहाणे का खराब फॉर्म भी एक बड़ी वजह बनकर सामने आया है। जिसमें कप्तान कोहली के अनुसार मध्यक्रम में बदलाव स्वाभिवक तौर पर देखने को मिलेगा जिसके लिए टीम मैनेजमैंट को अधिक बड़े फैसले नहीं लेने पड़ेंगे।

विराट कोहली ने प्रेस वार्ता के दौरान पुजारा और रहाणे को लेकर कहा कि, मध्यक्रम में बदलाव को लेकर हम ज्यादा कोशिश नहीं कर सकते। यह सामान्य तरीके से होगा। रहाणे और पुजारा ने पिछले टेस्ट मैच की दूसरी पाकी में शानदार बल्लेबाजी की थी। हमारे लिए यह अनुभव काफी अहम है। क्योंकि जब आप विदेशी दौरों पर खेलते हैं, तो यह दोनों ही टीम के लिए आगे आकर प्रदर्शन करते हैं।