वीडियो: कैच पकड़ने के लिए फील्डर ने झोंक दी अपनी जान, लेकिन दुनिया के सामने उतर गई इज्जत - क्रिकट्रैकर हिंदी

वीडियो: कैच पकड़ने के लिए फील्डर ने झोंक दी अपनी जान, लेकिन दुनिया के सामने उतर गई इज्जत

इस मुकाबले में डेन विलास अलग ही कारणों से सुर्खियों में आ गए।

Dane Vilas (Photo Source: Twitter)
Dane Vilas (Photo Source: Twitter)

मौजूदा टी-20 ब्लास्ट के 8वें मैच में लंकाशायर और यॉर्कशायर के बीच एक रोमांचक रोमांचक मुकाबला देखने को मिला। 27 मई को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में खेला गया ये मैच अंत में टाई पर समाप्त हुआ। मुकाबले में  दोनों टीमें के खिलाड़ियों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया, लेकिन फिर भी इस मैच का कोई परिणाम नहीं निकला । इस बीच, मैच के अंतिम ओवर के दौरान फैंस को एक मजेदार घटना देखने को मिला जिसने काफी सुर्खियां बटोरी।

यह सब कुछ तब हुआ जब लंकाशायर के कप्तान डेन विलास ने डाइव करते हुए एक कैच को पकड़ने की कोशिश की और इस दौरान उनकी पैंट उतर गई। यह मामला मैच के आखिरी ओवर में देखने को मिला, जहां डर्बीशायर को मैच जीतने के लिए दो गेंदों में छह रन की जरुरत थी। रिचर्ड ग्लीसन जो मैच का आखिरी ओवर डाल रहे थे उन्होंने एक आसान सा फुल टॉस फेंका और बल्लेबाज शादाब खान गेंद को हवा में मार बैठे और डेन विलास ने उन्हीं का कैच पकड़ने की कोशिश की थी।

यहां देखिए डेन विलास का वो वीडियो

यहां तक ​​​​कि उस दौरान मौजूद कमेंटेटर भी विलास के कैच पकड़ने की प्रयास की सराहना की, लेकिन वो भी इस दृश्य को देखने के बाद अपनी हंसी को कंट्रोल नहीं कर पाए। सोशल मीडिया पर विलास का ये वीडियो बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है।

दोनों टीमों के बीच हुआ एक रोमांचक मैच

वहीं अगर मैच की बात करें तो लंकाशायर ने अपने 20 ओवरों में स्कोरबोर्ड पर 7/183 रन लगाने में कामयाब रही। उनके लिए सलामी बल्लेबाज फिलिप साल्ट की 41 गेंदों में 59 रनों की शानदार पारी और मध्यक्रम में टिम डेविड की 18 गेंदों पर 35 रन की शानदार पारी खेली। यॉर्कशायर के लिए हारिस राउफ और जॉर्डन थॉम्पसन ने दो-दो विकेट लिए जबकि मैथ्यू रेविस और आदिल राशिद को भी एक-एक विकेट मिला।

जवाब में, टॉम कोहलर की 50 गेंदों में 67 और हैरी ब्रुक की 48 गेंदों में 72 रनों की पारी ने यॉर्कशायर को लक्ष्य के करीब ला दिया और टीम को अंतिम ओवर में केवल 13 रन की जरूरत थी। हालांकि, ग्लीसन के आखिरी ओवर में 12 रन देने के बावजूद लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम मैच जीतने में नाकाम रही।