रिद्धिमान साहा के पत्रकार विवाद मामले को लेकर रवि शास्त्री ने यह कहकर दी प्रतिक्रिया - क्रिकट्रैकर हिंदी

रिद्धिमान साहा के पत्रकार विवाद मामले को लेकर रवि शास्त्री ने यह कहकर दी प्रतिक्रिया

रिद्धिमान साहा ने 19 फरवरी को पत्रकार द्वारा धमकी भरे संदेशों का स्क्रीनशॉट ट्वीटर पर शेयर किया था।

Ravi Shastri. (Photo by Adam Davy/PA Images via Getty Images
Ravi Shastri. (Photo by Adam Davy/PA Images via Getty Images

भारतीय विकेटकीपर-बल्लेबाज रिद्धिमान साहा पिछले कुछ दिनों से पत्रकार विवाद मामले के कारण क्रिकेट जगत में चर्चा का विषय बने हुए हैं। दरअसल, साहा ने पत्रकार का इंटरव्यू निमंत्रण स्वीकार नहीं किया था, जिसके बाद उस पत्रकार ने भारतीय खिलाड़ी को धमकी भरे संदेश भेजे। साहा ने 19 फरवरी को ट्विटर पर धमकी भरे संदेशों का स्क्रीनशॉट शेयर किया था।

हालांकि, इस मामले पर पूर्व भारतीय खिलाड़ियों ने साहा का समर्थन किया, जबकि उनके अलावा पत्रकार की इस हरकत पर बीसीसीआई ने भी एक्शन लिया। हालांकि, साहा ने उस पत्रकार के नाम का खुलासा नहीं किया। वहीं, अब इस मामले को लेकर पूर्व राष्ट्रीय कोच रवि शास्त्री ने भी प्रतिक्रिया दी है।

शास्त्री ने कहा कि अब समय बदल गया है तथा अपने दिनों को याद करते हुए बताया कि उनकी पीढ़ी के खिलाड़ियों का पत्रकारों के साथ जैसा तालमेल था, वह अब नहीं है।

“मैं पिछले सात वर्षों से ड्रेसिंग रूम का हिस्सा हूं”- रवि शास्त्री

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, रवि शास्त्री ने इट्स अ वंडरफुल वर्ल्ड पर कहा, “मुझे लगता है अब समय बदल गया है। जब हम खेलते थे उस दौरान खिलाड़ियों का पत्रकारों के साथ जो समीकरण था, वह आज के खिलाड़ियों की तुलना में बेहतर था। मैं पिछले सात सालों से ड्रेसिंग रूम का हिस्सा रहा हूं।”

उन्होंने कहा, “मैं खिलाड़ियों और पत्रकारों को दोष नहीं देना चाहता क्योंकि आज के समय में खिलाड़ियों को जैसी सुर्खियां मिलती हैं, वह हमारे समय में नहीं था। इसमें कोई संदेह नहीं कि हमारे समय की तुलना में अब खेल को कवर करने वाले मीडिया चैनलों की संख्या ज्यादा है। हमारे समय में प्रिंट मीडिया के अलावा दूरदर्शन शुरू ही हुआ था।”

वहीं, ऐसा नहीं है कि रवि शास्त्री ने साहा का साथ नहीं दिया। रवि शास्त्री ने ट्वीट कर कहा था कि जो कुछ भी साहा के साथ हुआ, वो निश्चित ही गलत है। उन्होंने धमकी देने वाले पत्रकार के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की।