in ,

Good Bad Angry

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में भारतीय टीम के इन खिलाड़ियों को मिल सकती है अंतिम 11 में जगह

नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने के लिए भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली आयेंगे

Team India
Team India. (Photo Source: Twitter)

अपने सफल घरेलू सत्र का पिछले साल अंत करने वाली भारतीय टीम के लिए नयें साल की शुरुआत में पहली चुनौती दक्षिण अफ्रीका के रूप में सामने होगी जिसे उसको उसी के घर पर हराना काफी कठिन रहा है. भारतीय टीम 6 बार दक्षिण अफ्रीका का दौरा कर चुकी है लेकिन हर बार उसे वहां से खाली हाथ ही वापस लौटना पड़ा है, लेकिन इस बार विराट कोहली की टीम इस दौरे को सफल बनाने की पूरी कोशिश में लगी हुयीं है.

हालात के अनुसार खुद को ढालना

भारतीय खिलाड़ियों के सामने सबसे पहले चुनौती के रूप में खुद को अफ़्रीकी हालात में ढालना होगा क्योंकी वहां का मौसम और हालात यहाँ से काफी अलग है जिस कारण दक्षिण अफ्रीका की पिच पर तेज गेंदबाजों को काफी मदद मिलती है और भारतीय बल्लेबाजों के सामने हमेशा यही सबसे बड़ी चिंता का विषय बनता है. इसके बाद गेंदबाजों के लिए जो पहली चुनौती होगी वह खुद को कुकाबुरा गेंद से किस तरह से गेंदबाजी करना है.

5 जनवरी से है पहला टेस्ट

भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका के दौरे की शुरुआत तीन मैच की टेस्ट सीरीज से करना है जिसका पहला टेस्ट मैच 5 जनवरी को केपटाउन में खेला जाएगा. ये मैदान भारतीय टीम के लिए दौरे की शुरुआत करने के लिए काफी अच्छा है क्योंकी इसकी पिच से स्पिन गेंदबाजों को भी काफी मदद मिलती है और यहाँ के हालात भी भारतीय खिलाड़ियों के माकूल होंगे.

पहले टेस्ट इन 11 के साथ उतर सकती है भारतीय टीम

ओपनिंग – शिखर धवन और मुरली विजय

भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका पहुँचते ही एक बड़ा झटका शिखर धवन के रूप में लगा था जो टखने की चोट के कारण पहले टेस्ट मैच से बाहर होने के आसार बन गए थे लेकिन उन्होंने पहले टेस्ट मैच के पहले अपने आप को पूरी तरह से फिट करके टीम की चिंता को दूर कर दिया वहीँ धवन के दूसरे साथी खिलाड़ी मुरली विजय जो इस समय बेहतरीन फॉर्म में चल रहे है उनके साथ ओपनिंग की जिम्मेदारी संभालने के लिए पूरी तरह से तैयार है पहले टेस्ट मैच में.

मध्यक्रम – चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, आजिंक्य रहाणे

किसी भी टीम के लिए विदेशी दौरों पर उसके ओपनिंग बल्लेबाजों के अलावा मध्यक्रम भी बेहद मजबूत होना चाहिए क्योकिं टीम की सफलता इन्ही से उस दौरे पर तय होती है. भारतीय टीम के लिए राहुल द्रविड़ के सन्यास लेने के बाद नंबर 3 के स्थान पर चेतेश्वर पुजारा ने अपने आप को पूरी तरह से स्थापित कर लिया है और उनका पिछला घरेलू सत्र भी काफी शानदार बीता है जिसमे उन्होंने टेस्ट मैच में काफी बड़ी पारियां खेली है और दक्षिण अफ्रीका दौरे पर उनके प्रदर्शन पर टीम की सफलता काफी कुछ निर्भर करेगी.

इसके बाद नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने के लिए भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली आयेंगे जिन्होंने वनडे क्रिकेट में अपना रूतुबा अलग ही कायम किया हुआ है और टेस्ट में उन्हें विदेशी जमीन पर अभी खुद को साबित करना बाकी है, जिसकी शुरुआत वे दक्षिण अफ्रीका दौरे से कर सकते है. विराट का हालिया फॉर्म बेहद शानदार है और उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में लगातार दो दोहरे शतक जड़ दिए थे.

नंबर पांच पर टीम के लिए बल्लेबाजी करने के लिए उपकप्तान आजिंक्य रहाणे आते है जो टीम के लिए इस समय सबसे बड़ी चिंता का विषय है क्योंकी श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में यदि किसी बल्लेबाज ने रन नहीं बनायें थे तो वह रहाणे थे लेकिन मुंबई के इस बल्लेबाज का विदेशी जमीन पर रिकॉर्ड काफी शानदार है और सभी को विश्वास है कि एक बार फिर से ये बल्लेबाज टीम के लिए उपयोगी साबित होगा.

आलराउंडर – हार्दिक पंड्या

भारतीय टीम के लिए इस बार विदेशी दौरे पर सबसे अच्छी बात ये है कि उसे काफी लम्बे वक्त के बाद एक ऐसा खिलाड़ी मिला है जो तेज गेंदबाजी भी कर सकता है और जरुरत पड़ने पर निचले क्रम में अच्छी बल्लेबाजी. हार्दिक पंड्या ने पिछले एक साल में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी प्रतिभा का जौहर सभी को दिखाया है और श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में आराम करने के बाद ये खिलाड़ी पहली बार एशिया के बाहर अपना पहला टेस्ट खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

विकेटकीपर – ऋद्धिमान साहा

महेंद्रसिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद भारतीय टीम की पिछले 3 साल से टेस्ट क्रिकेट में पसंद के रूप में ऋद्धिमान साहा ही पहले विकेटकीपर है और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाले पहले टेस्ट मैच में वे अपनी इसी जिम्मेदारी को निभाते हुए दिखेंगे भले ही इस समय टीम के साथ पार्थिव पटेल के रूप में दूसरा विकल्प मौजूद हो.

स्पिनर – रविचंद्रन अश्विन

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम दो स्पिन गेंदबाजों के साथ मैदान में उतर सकती है लेकिन जिस तरह न्यूलैंड्स मैदान के पिच क्यूरेटर ने कहा कि इस पिच पर स्पिन गेंदबाजों को अधिक मदद नहीं मिलेगी यदि उसे ध्यान में रखा जाए तो रवीन्द्र जड़ेजा को पहले टेस्ट मैच से बाहर बैठना पड़ सकता है.

तेज गेंदबाजी आक्रमण – मोहम्मद शमी, उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार

भारतीय टीम के लिए इस बार दक्षिण अफ़्रीकी दौरे को सफल बनाने क्ले लिए ऐसा तेज गेंदबाजी आक्रमण मौजूद है जो किसी भी हालात में 140 के उपर की रफ़्तार से गेंदबाजी कर सकता है और वो भी सटीक लाइन लेंग्थ से जो किसी भी टीम की मजबूत बल्लेबाजी क्रम को ध्वस्त करने में सफल हो सकते है.

पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम मोहम्मद शमी जो पहले भी दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट मैच खेल चुके है और उन्हें वहां के हालात के बारे में अच्छी तरह से पता है उनको शामिल करेगी इसके अलावा उमेश यादव को इस टीम में जगह दी जायेगी क्योकिं उनके पास बल्लेबाजों को चौकाने वाली गति है और वे भारतीय टीम के लिए जिस तरह से श्रीसांत की तरह साबित हो सकते है जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर अफ़्रीकी बल्लेबाजों को खासा परेशान किया था.

इस टीम में तीसरे तेज गेंदबाज के रूप में भुवनेश्वर कुमार को शामिल किया जा सकता है क्योंकी भुवनेश्वर की स्विंग गेंदबाजी अफ़्रीकी बल्लेबाजों को परेशान कर सकती है और भुवनेश्वर नयीं और पुरानी गेंद से टीम के लिए काफी फायेदेमंद साबित हो सकते है.

 

Dale Steyn

भारत के लिए अच्छी खबर पहले टेस्ट से बाहर हो सकता है ये अफ्रीकी तेज गेंदबाज

Prithvi Shaw

अंडर-19 विश्व कप में खेलेंगे 18 वर्षीय पृथ्वी शॉ