पैरालंपिक खिलाड़ियों को मिला सचिन का समर्थन, सभी को बताया 'रियल लाइफ हीरो' - क्रिकट्रैकर हिंदी

पैरालंपिक खिलाड़ियों को मिला सचिन का समर्थन, सभी को बताया ‘रियल लाइफ हीरो’

मंगलवार से शुरू होगा टोक्यो पैरालंपिक का मुकाबला।

Sachin Tendulkar. (Photo by MOHAMMED FAROOQ/AFP via Getty Images)
Sachin Tendulkar. (Photo by MOHAMMED FAROOQ/AFP via Getty Images)

टोक्यो ओलंपिक के शानदार तरीके से खत्म होने के बाद भारत के 54 खिलाड़ी टोक्यो में ही होने वाले पैरालंपिक में भाग लेने के लिए तैयार है। इस पैरालंपिक में कुल 9 तरह के खेल आयोजित किए जाएंगे। भारतीय क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर भी अब इस पैरालंपिक के समर्थन में सामने आए हैं और उन्होंने पूरे देशवासियों को इसका समर्थन करने को कहा है।

पैरालंपिक 24 सितम्बर से शुरू होने जा रहा है और सचिन तेंदुलकर ने इस पैरालंपिक में खेलने वाले सभी खिलाड़ियों की यहां तक की यात्रा को देखते हुए उन्हें सुपर हीरो कहा है। सचिन ने ये भी कहा कि मेहनत और लगन से इंसान कहां से कहां तक पहुंच सकता है ये लोग उसका जीता जागता उदाहरण हैं। सचिन ने पैरालंपिक के महत्व के बारे में बताते हुए कहा कि इन खिलाड़ियों को भी उतना ही इज्जत और सम्मान मिलना चाहिए जितना एक क्रिकेटर को देते हैं।

पैरालंपिक खिलाड़ियों को भी मिलना चाहिए एक जैसा प्यार

टाइम्स नाउ से बातचीत के दौरान सचिन ने कहा कि, “इनकी पैरालंपिक की कहानी हम बहुत कुछ सिखाती है। हमें इनसे सीखना चाहिए कि मेहनत और लगन के दम पर इंसान कहां से कहां तक पहुंच सकता है। मुझे लगता है कि जिस तरह हमने टोक्यो ओलंपिक का समर्थन किया और जिस तरह हम क्रिकेट को प्यार को देते हैं, उसी तरह का समर्थन और प्यार अगर हम पैरालंपिक के खिलाड़ियों को देंगे तो इस से हम एक बेहतर समाज बना पाएंगे।”

हमें खेल को जश्न की तरह मनाना चाहिए ना कि उसके नतीजे को

खेल हमेशा हार जीत का नहीं होता है। इसमें कभी कभी भाग लेना भी किसी जीत से कम नहीं होता। सचिन का मानना है कि चाहे परिणाम कुछ भी हो, हमें इन खिलाड़ियों का समर्थन करना चाहिए। सचिन ने कहा कि, “जरूरी ये है कि इस खेल में उनकी भागीदारी का हम जश्न मनाए ना कि परिणाम का। मैं इस पैरालंपिक में सभी खिलाड़ियों को देखूंगा। हर खिलाड़ी मेरे लिए आदर्श है और मैं उनको भारत के लिए खेलते हुए देखना चाहता हूं।”

हाल ही में समाप्त हुए टोक्यो ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया था। इस ओलंपिक में भारत के खाते में 7 पदक आए। टोक्यो ओलंपिक में भारत ने 1 स्वर्ण पदक, 2 रजत पदक और 4 कांस्य पदक अपने नाम किया था।