IPL 2022 के मेगा ऑक्शन में कुछ इस प्रकार होगा रिटेंशन और नीलामी का गणित - क्रिकट्रैकर हिंदी

IPL 2022 के मेगा ऑक्शन में कुछ इस प्रकार होगा रिटेंशन और नीलामी का गणित

खबरों के मुताबिक मौजूदा 8 IPL टीमों को चार खिलाड़ियों को रिटेन करने का मौका मिल सकता है।

IPL Trophy. (Photo Source: IPL/BCCI)
IPL Trophy. (Photo Source: IPL/BCCI)

IPL के 15वें सीजन से पहले इस लीग में दो नई टीमों को शामिल किया जा चुका है, जिसके बाद अब सभी की नजरें आगामी मेगा ऑक्शन पर हैं। उम्मीद की जा रही है कि इस नीलामी में बहुत पैसे खर्च किए जाएंगे, साथ ही खिलाड़ियों का फेरबदल भी होगा। 2022 IPL सीजन के लिए यह बड़ी नीलामी दिसंबर या जनवरी में आयोजित की जाएगी लेकिन इसको लेकर फिलहाल तस्वीर साफ नहीं हुई है।

कुछ रिपोर्ट्स की मानें तो संभावना ये है कि मौजूदा फ्रेंचाइजियों को अधिकतम चार खिलाड़ियों को रिटेन करने की अनुमति होगी, जबकि दो नई टीमें ड्राफ्ट सिस्टम के माध्यम से तीन नए खिलाड़ियों को चुनने में सक्षम होंगी। यह सिस्टम आखिरी बार साल 2016 में भी अपनाया गया था, उस समय राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स और गुजरात लायंस को इस लीग में शामिल किया गया था।

BCCI ने फिलहाल मौजूदा फ्रेंचाइजी को अनौपचारिक रूप से सूचित किया है कि वह तीन भारतीय और एक विदेशी खिलाड़ी या दो-दो भारतीय और विदेशी खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती हैं। इसके अलावा इस मेगा ऑक्शन में राइट टू मैच कार्ड (RTM) का कोई प्रावधान नहीं होगा।

नई IPL टीमों के लिए कैसी रहेगी नीलामी प्रक्रिया?

मौजूदा 8 फ्रेंचाइजी जब ये तय कर लेंगी कि वह कौन-कौन से खिलाड़ियों को रिटेन कर रही हैं, तब बाकी बचे हुए सभी खिलाड़ियों को ऑक्शन पूल में डाल दिया जाएगा। इसके बाद दो नई टीमें ड्राफ्ट सिस्टम के माध्यम से तीन खिलाड़ियों को चुनेंगी। इसमें से सबसे अधिक संभावना इसी बात की जताई जा रही है कि टीमें दो भारतीय और एक विदेशी खिलाड़ियों को ड्राफ्ट करेंगी। माना जा रहा है कि इस बार चूंकि लखनऊ ने IPL टीम खरीदने के लिए सबसे अधिक बोली लगाई थी इसलिए सबसे पहले खिलाड़ी चुनने का मौका उन्हें मिलेगा।

BCCI फिलहाल इस पर विचार कर रही है कि इन खिलाड़ियों में से प्रत्येक के लिए रिटेंशन शुल्क क्या होगा। इस बीच कौन सा खिलाड़ी रिटेन होना चाहता है या नीलामी पूल में जाना चाहता है, इस बारे में विकल्प संबंधित व्यक्तिगत खिलाड़ी के पास रहेगा, जिसकी सहमति हस्ताक्षर करने से पहले ली जाएगी। बोर्ड ने अभी तक यह भी तय नहीं किया है कि एक फ्रेंचाइजी प्रत्येक रिटेन किए गए खिलाड़ी पर कितनी राशि खर्च कर सकती है।