KYC अपडेट के नाम पर विनोद कांबली से हुई ठगी, हुआ लाखों का नुकसान - क्रिकट्रैकर हिंदी

KYC अपडेट के नाम पर विनोद कांबली से हुई ठगी, हुआ लाखों का नुकसान

साइबर पुलिस ने बैंक से बात करके ट्रांजेक्शन को रिवर्स कर दिया और कांबली को उनके पैसे वापस मिल गए।

Vinod Kambli
Vinod Kambli. (Photo Source: Twitter)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी विनोद कांबली साइबर ठगी का शिकार हो गए हैं। साइबर ठगों उन्हें एक लाख से भी अधिक रुपये का चूना लगाया है। धोखेबाज बैंक का अधिकारी बनकर कांबली के केवाईसी दस्तावेजों को अपडेट करने का नाटक किया और फिर क्रिकेटर को अपने खाते से पैसे का नुकसान सहना पड़ा।

इस मामले की जानकारी तब सामने आई जब कांबली 03 दिसंबर को इसकी शिकायत दर्ज कराने के लिए बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचे। उसी थाने की साइबर इकाई ने धोखाधड़ी करने वाले को पकड़ लिया और अंतत: उससे  पूरी रकम वसूली गई।

घटना के बारे में बात करते हुए, कांबली ने बताया कि उन्हें एक निजी बैंक के एक कार्यकारी का फोन आया, जिसमें कहा गया था कि उन्हें क्रिकेटर के KYC डिटेल को अपडेट करने की आवश्यकता है। यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो उनका कार्ड निष्क्रिय कर दिया जाएगा। उस कॉल के दौरान में क्रिकेटर को ‘AnyDesk’ एप्लिकेशन डाउनलोड करने के लिए कहा गया था, जिसके जरिए कॉल करने वाले को कांबली के फोन तक पहुंच मिली।

पुलिस और बैंक की मदद से कांबली को उनके पैसे मिले वापस

जानकारी के लिए बता दे कि इन दिनों धोखेबाजों द्वारा यूजर के बैंक खाते से रुपये निकालने के लिए कई ऐप का इस्तेमाल किया जा रहा है और ‘AnyDesk’ उनमें से एक है। हालांकि, कांबली के मामले में, जब उस इंसान ने कॉल किया, तब उनके खाते से कई लेन-देन हुए, जिससे उन्हें कुल 1.14 लाख का नुकसान हुआ।

हालांकि राहत की बात ये है कि शिकायत मिलते ही साइबर पुलिस ने बैंक से बात कर उनकी मदद लेते हुए पैसों के ट्रांजेक्शन को रिवर्स कर दिया और कांबली को उनके पैसे वापस मिल गए। वहीं अब पुलिस जांच में लग गई है और पता लगाने की कोशिश कर रही है कि वह अकाउंट का असली मालिक कौन है।

विनोद कांबली ने भारत के लिए 17 टेस्ट में 54.2 की औसत से 1,084 रन बनाए हैं। वहीं 104 वनडे मैचों में 32.59 की औसत से 2,477 रन बनाए हैं।