in

Good Bad Angry

कप्तान कोहली पड़ गए है महेंद्र सिंह धोनी के पीछे

भारतीय कप्तान विराट कोहली महेंद्र सिंह धोनी से महज 531 रनों से पीछे हैं

Virat-Kohli-and-MS-Dhoni
Virat Kohli and MS Dhoni. (Photo Source: Twitter)

भारतीय टीम के युवा कप्तान विराट कोहली जिस तरीके से मैदान में लगातार नए नए रिकॉर्ड बनाते जा रहे हैं उन्हें देखकर यही लगता है कि उनकी रन बनाने की भूख और बढ़ती जा रही है और वह अपनी भूख को पूरा करने के लिए भारतीय टीम के महान बल्लेबाज पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पीछे पड़ गए हैं. क्योंकि कप्तान कोहली कई बड़े-बड़े दिग्गज बल्लेबाजों का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं और तेजी से उनका सिलसिल जारी है.

मोहम्मद अजहरुद्दीन को पछाड़ा:

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलते हए 75 रनों की पारी खेली और इस पारी के साथ ही कप्तान कोहली ने  एक और रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया. कोहली ने महान बल्लेबाज मोहम्मद अजहरुद्दीन का रिकॉर्ड तोड़ते हुए वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले पांचवें बल्लेबाज बन गए हैं. आज जिस तरीके से कोहली मैदान पर खेल रहे हैं और रनों की बौछार कर रहे हैं उससे यही लगता है कि उनका अगला टारगेट महेंद्र सिंह धोनी है.

कोहली का अगला टारगेट महेंद्र सिंह धोनी:

भारतीय कप्तान विराट कोहली महेंद्र सिंह धोनी से महज 531 रनों से पीछे हैं. कोहली ने कब सबसे कम पारियों में 9000 रन बनाने का रिकॉर्ड भी पहले ही ध्वस्त कर दिया है. और अब तक कोहली के आगे महेंद्र सिंह धोनी ही बचे हुए हैं. लेकिन क्या कप्तान कोहली अपनी पार्टी को जारी रखते हुए महेंद्र सिंह धोनी का रिकॉर्ड ध्वस्त करते हैं या नहीं यह आने वाले कई मैचों के बाद ही पता चल पाएगा.

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर अभी नंबर 1 पर चल रहे हैं. उनके बाद सौरव गांगुली दूसरे स्थान पर हैं जबकि राहुल द्रविड़ तीसरे स्थान पर जमे हुए हैं और महेंद्र सिंह धोनी ने चौथा स्थान अपना बनाया है. और अब कोहली पांचवें स्थान पर है यानि अब उनके आगे महेंद्र सिंह धोनी है जिनका पीछा कोहली को करना है.

Written by Sujeet Kumar

Reporting is My Passion

Heinrich Klaasen and Andile Pehlukwayo of South Africa. (Photo by GIANLUIGI GUERCIA/AFP/Getty Images)

दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच चोथे वनडे मैच के बाद विराट कोहली के नाम पर दर्ज हुए ये रिकॉर्ड

Rohit Sharma

रोहित शर्मा के खराब फॉर्म को लेकर दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान केप्लर वेल्स ने की टिप्पणी