अबू धाबी टी-10 लीग में डेक्कन ग्लैडिएटर्स के कप्तान बने वहाब रियाज - क्रिकट्रैकर हिंदी

अबू धाबी टी-10 लीग में डेक्कन ग्लैडिएटर्स के कप्तान बने वहाब रियाज

टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में डेक्कन ग्लैडिएटर्स 20 नवंबर को चेन्नई ब्रेव्स के साथ भिड़ेगी।

Wahab Riaz
Wahab Riaz. (Photo by ASIF HASSAN/AFP via Getty Images)

पाकिस्तान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज वहाब रियाज को अबू धाबी में टी-10 लीग के आगामी सत्र के लिए डेक्कन ग्लैडिएटर्स का कप्तान नियुक्त किया गया है। वहीं दूसरी ओर मुश्ताक अहमद को ग्लेडियेटर्स का हेड कोच बनाया गया है। पाकिस्तान के क्रिकेटर अनवर अली और रुम्मन रईस भी टूर्नामेंट में ग्लेडियेटर्स के लिए खेलने के लिए तैयार हैं।

उम्मीद की जा रही है कि वेस्टइंडीज के स्टार ऑलराउंडर आंद्रे रसेल और इंग्लैंड के टॉम बैंटन उन दोनों खिलाड़ी का अच्छा समर्थन करेंगे। डेविड वीजे और नजीबुल्लाह जादरान भी उस सेटअप का हिस्सा हैं और उनके शामिल होने से ये टीम और मजबूत नजर आ रही है।

अबू धाबी टी-10 लीग का अगला संस्करण 19 नवंबर से अबू धाबी के जायद क्रिकेट स्टेडियम में शुरू होने वाला है। प्रतियोगिता में कुल छह टीमें भाग लेंगी, इस लीग का फाइनल 4 दिसंबर को खेला जाना है। डेक्कन ग्लैडिएटर्स टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में 20 नवंबर को चेन्नई ब्रेव्स के साथ भिड़ेंगे।

फाफ डु प्लेसिस ने टी-10 लीग में खेलने को लेकर क्या कहा ?

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस, जो अबू धाबी टी 10 लीग में बांग्ला टाइगर्स के लिए खेलेंगे, वह इस फॉर्मेट में पहले सलामी बल्लेबाज के रूप में खेल चुके हैं। उन्होंने कहा कि टेस्ट, वनडे और टी-20 तीनों प्रारूपों में खेलने के बाद भी वह टी-10 प्रारूप की ओर अधिक आकर्षित हैं।

डु प्लेसिस ने mirror.co.uk.के हवाले से कहा कि, “मुझे लगता है कि मेरे जैसे खिलाड़ी इस तरह के टूर्नामेंटों को देखते रहेंगे। टी-10 का भविष्य अच्छा दिख रहा है। यह एक ऐसा प्रारूप है जिसका इस्तेमाल ओलंपिक में किया जा सकता है। टी-10 की तेज प्रकृति भी इसे प्रशंसकों के लिए आकर्षक बनाती है। मुझे लगता है कि टी-10 केवल बेहतर और बेहतर होने वाला है।”

ICC के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले ने भी उसी मामले को लेकर खुल कर बात की। उन्होंने कहा कि, “विश्व स्तर पर हमारे एक अरब से अधिक प्रशंसक हैं और उनमें से लगभग 90 प्रतिशत ओलंपिक में क्रिकेट देखना चाहते हैं। इस बोली के पीछे हमारा खेल एकजुट है, और हम ओलंपिक को क्रिकेट के दीर्घकालिक भविष्य के हिस्से के रूप में देखते हैं।