in

बीसीसीआई पर भड़के पाकिस्तानी दिग्गज वसीम अकरम

वसीम अकरम का कहना है कि टेस्ट क्रिकेट में खिलाड़ियों की असली परीक्षा होती है

Wasim Akram
(Photo Source: Getty Images)

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी वसीम अकरम ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को जमकर फटकार लगाया है वसीम अकरम ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की लाई गई नई नई कॉन्ट्रैक्ट पॉलिसी की आलोचना की है. वसीम अकरम का मानना है कि टेस्ट क्रिकेट के खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा पैसे मिलने चाहिए थे. और वसीम अकरम के इस बयान से यही लगता है कि वसीम अकरम भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की लाई गई इस कॉन्ट्रैक्ट पॉलिसी के खिलाफ हैं.

वसीम अकरम का कहना है कि टेस्ट क्रिकेट में खिलाड़ियों की असली परीक्षा होती है. क्योंकि की ये सबसे मुश्किल होता है. क्योंकि टेस्ट में बाउंसर बाउंसर झेलते हैं अपने हेलमेट पर गेंद खाते हैं, गेंदबाज बॉलिंग के लंबे स्पेल फेंकते हैं. और खिलाड़ी सबसे ज्यादा परेशानी का सामना इसी में करते है. और इसलिए जो टेस्ट खेलते हैं उन्हें उनके मेहनत का इनाम मिलना चाहिए था.

नए ग्रेड में अक्टूबर 2017 से सितंबर 2018 तक के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के 5 खिलाड़ियों को रखा गया है. इस नए वर्ग में कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह शामिल है. वहीं इसके अलावा ए ग्रेड के खिलाड़ियों को 5 करोड़, बी ग्रेड को 3 करोड़ और सी ग्रेड को 1 करोड़ रुपए दिए जाने हैं.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का संचालन देख रही प्रशंसकों की समिति सीओए ने अक्टूबर 2017 से सितंबर 2018 तक के लिए वार्षिक खिलाड़ी अनुबंध की घोषणा की. जिसमें खिलाड़ियों के अनुबंध की राशि में वृद्धि कर दी गई है. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने सीओए प्रमुख विनोद राय से हाल ही में मुलाकात की थी जिसमें इन लोगों ने खिलाड़ियों के अनुबंध की राशि बढ़ाने की मांग की थी जिसे सीओए ने मंजूरी दे दी है.

MSK Prasad (Photo Source: Twitter)

मुख्य चयनकर्ताओं के केंद्रीय अनुबंध पर अभी तक कोई ऐलान नहीं किया गया है

Hasin Jahan & Mohammed Shami. (Photo Source: Twitter)

मोहम्मद शमी और हसीन जहां के बीच बातचीत की क्लिप हुयीं जारी