'टीम इंडिया के लिए कमाल करेगा ये लड़का'- ऋतुराज की तारीफ में चेतन शर्मा का बड़ा बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘टीम इंडिया के लिए कमाल करेगा ये लड़का’- ऋतुराज की तारीफ में चेतन शर्मा का बड़ा बयान

गायकवाड़ ने इस सीजन में विजय हजारे ट्रॉफी और IPL में बेहतरीन प्रदर्शन किया था।

Ruturaj Gaikwad. (Photo Source: Disney + Hotstar)
Ruturaj Gaikwad. (Photo Source: Disney + Hotstar)

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी एकदिवसीय सीरीज के लिए भारत की 18 सदस्यीय टीम की घोषणा शुक्रवार 31 दिसंबर को की गई। हाल में वनडे टीम के कप्तान बने रोहित शर्मा फिटनेस के मुद्दों के कारण सीरीज से बाहर हो गए। उनके जगह चयनकर्ताओं ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) और घरेलू क्रिकेट में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए ऋतुराज गायकवाड़ को पुरस्कृत करते हुए टीम में शामिल किया।

मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने भी युवा खिलाड़ी की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह भविष्य में भारत के लिए चमत्कार करेंगे। ऋतुराज का आईपीएल 2021 का शानदार सीजन था, जहां उन्होंने 16 पारियों में 45.35 के औसत और 136.26 के स्ट्राइक-रेट से 635 रन बनाए। उन्होंने सीजन में चार अर्द्धशतक और एक शतक लगाया, साथ ही आईपीएल 2021 के शीर्ष रन बनाने वाले खिलाड़ी होने के लिए ऑरेंज कैप भी जीता।

ऋतुराज को सही समय पर मिली है टीम इंडिया में एंट्री- चेतन शर्मा

इसके बाद विजय हजारे ट्रॉफी के इस सीजन में भी गायकवाड़ ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। उस टूर्नामेंट में उन्होंने पांच मैचों में 168 के सर्वश्रेष्ठ स्कोर के साथ चार शतक लगाए। इस बीच वनडे टीम में गायकवाड़ के चयन को लेकर चेतन शर्मा ने कहा कि उन्हें लगता है कि युवा बल्लेबाज को सही समय पर मौका दिया गया है और आने वाले समय में वह भारत के लिए शानदार प्रदर्शन करेंगे।

चेतन शर्मा ने टीम चयन के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, “देखिए, इसमें कोई दोराय नहीं है कि ऋतुराज गायकवाड़ को सही समय पर मौका मिला है। वह टी-20 टीम में था और अब वह वनडे टीम में भी है। चयनकर्ताओं को लगता है कि उसे जिस भी टीम में जगह मिलेगी वह देश के लिए बेहद सफल रहेगा।”

चेतन शर्मा ने कहा कि उन्होंने ऋतुराज को उनके शानदार फॉर्म के लिए पुरस्कृत किया है। हालांकि साथ ही उन्हें लगा कि अब यह प्रबंधन पर निर्भर है कि उन्हें प्लेइंग इलेवन में मौका मिलता है या नहीं। उन्होंने कहा कि, “हमने ऋतुराज का चयन किया है। अब यह टीम प्रबंधन पर निर्भर करता है कि वो देखें कि वह कब अंतिम एकादश में खेल सकता है, कब उसकी जरूरत है और क्या संयोजन रहेगा।”