पाकिस्तानी मैच के बायकाट पर बोले कोहली, देश जो चाहेगा वही होगा - क्रिकट्रैकर हिंदी

पाकिस्तानी मैच के बायकाट पर बोले कोहली, देश जो चाहेगा वही होगा

(Photo Source: Twitter)

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच टी20 का पहला मैच रविवार को होने जा रहा है।इस मैच के शुरू होने से पहले भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने मीडिया से मुखातिब होते हुए बताया कि मौजूदा समय में देश में पुलवामा हमले को लेकर चारों ओर बहुत गुस्सा है। हर कोई पाकिस्तान का नाम लेकर तरह-तरह की अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहा है।

मीडिया ने पूछा कप्तान की राय

यह तो सभी को मालूम है कि मौजूदा समय में राजनीतिज्ञ,सेलेब्रिटीज, क्रिकेटर सब विश्व कप में पाकिस्तान का बहिष्कार करने की मांग कर रहे हैं। इस माहौल में जब भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली प्रेस के सामने आये तो सभी ने उनसे यही सवाल दागा कि पाकिस्तान के साथ मैच के बहिष्कार की मांग पर उनकी अपनी राय क्या है?

पूरे देश के साथ पूरी टीम भी शहीदों के परिवारों के साथ खड़ी है

इस सवाल के जवाब पर कोहली ने प्रेस को बताया कि उनके लिए देश पहले है। पुलवामा के आतंकी हमले में जिस तरह से सीआपीएफ के 46 जवान शहीद हुए हैं। पूरा देश उनके साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि पूरी टीम और मेरी स्वयं की संवेदनाएं उन शहीद जवानों और परिवार के साथ है। उन्होंने कहा कि पूरी टीम फैसले का इंतजार कर रही है।

खेलने का आदेश हुआ तो पाक का हरायेंगे नहीं तो नहीं

भारतीय कप्तान ने कहा कि हमारे लिए कुछ भी नया नहीं है और हमें अपने देशवासियों, सरकार और क्रिकेट बोर्ड से जो भी आदेश मिलेगा उसे मानने में एक पल भी नहीं लगायेंगे। यदि खेलने का आदेश हुआ तो खेल कर उन्हें हराकर मजा चखायेंगे और यदि नहीं खेलने का फैसला लिया जाता है तो फिर टीम बिलकुल नहीं खेलेगी। इसमें अगर-मगर का कोई सवाल ही नहीं उठता है।

बोर्ड ने पहले ही ले लिया है फैसला

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने भी हाल ही में बैठक कर शहीदों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त कीं है। यही नहीं इस बार का आईपीएल की धूमधड़ाके वाली ओपनिंग को भी नहीं आयोजित करने का फैसला लिया गया है। साथ ही यह भी फैसला लिया गया है कि इससे आईपीएल को जो बचत होगी, उस धनराशि को शहीदों के परिवारों को दे दिया जाएगा।

अब सरकार को लगानी है फैसले पर मुहर

अब चूंकि यह मामला विदेश और गृह मंत्रालय के साथ खेल मंत्रालय से जुड़ा हुआ है, इसलिए बीसीसीआई ने इस बारे में अंतिम फैसले के लिए गेंद केंद्र सरकार के पाले में डाल दी है। बोर्ड ने कहा कि सरकार इस बारे में जो भी फैसला करेगी उसे माना जाएगा। साथ ही यह भी कहा है कि अभी विश्व कप होने में थोड़ा समय है तब तक सरकार इस बारे में फैसला ले लेगी।