दोस्त हो तो युजवेंद्र चहल जैसा, गुस्से में कुलदीप यादव की बकवास तक झेल जाते हैं! - क्रिकट्रैकर हिंदी

दोस्त हो तो युजवेंद्र चहल जैसा, गुस्से में कुलदीप यादव की बकवास तक झेल जाते हैं!

कुलदीप यादव की हालिया सफलता के पीछे DC के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग का हाथ है।

Yuzvendra Chahal and Kuldeep Yadav. (Image Source: YouTube/Oaktree Sports)
Yuzvendra Chahal and Kuldeep Yadav. (Image Source: YouTube/Oaktree Sports)

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल, जिन्हें कुलचा के नाम से जाना जाता है, के बीच बेहद खास मित्रता है, खासकर जब से दोनों ने टीम इंडिया के लिए एक-साथ खेलना शुरू किया। हालांकि, अब चहल और कुलदीप को भारत के लिए एक-साथ खेलने का मौका नहीं मिल पा रहा है।

लेकिन इससे कुलचा के रिश्ते में कोई फर्क नहीं पड़ा है, वे आज भी खराब दौर में एक-दूसरे के साथ खड़े रहते हैं। इस बीच, युजवेंद्र चहल के साथ अपने रिश्ते के बारे में बात करते हुए, कुलदीप यादव ने खुलासा किया कि यूजी ने हमेशा उनका साथ दिया, जब भी वह मुश्किल दौर से गुजरे, और उन्हें मजबूत वापसी करने के लिए प्रेरित किया।

कुलदीप यादव ने ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस के लेटेस्ट सीजन के दूसरे एपिसोड में कहा: “जब भी मेरा मूड ऑफ होता था, मेरा मनोबल गिर जाता था, तो मैं भारतीय क्रिकेट टीम के केवल एक सदस्य से सबसे ज्यादा बात करता था, और वो कोई और नहीं यूजी चहल है।

‘दोस्ती निभानी कोई युजवेंद्र चहल से सीखे’

जब मैं चोटिल था और मेरी सर्जरी हुई थी, तो मुझे अक्सर मूड स्विंग हो जाते थे। मैं हर 15 मिनट में गुस्सा हो जाता था और मैं अपना सारा गुस्सा चहल पर निकाल देता था। उन्होंने हमेशा मुझे सिर्फ रिहैब पर ध्यान देने की सलाह दी और कहा इससे आपकी वापसी शानदार होगी। इसने मेरी बहुत मदद की।”

इस बीच, कुलदीप यादव ने खुलासा किया कि दिल्ली कैपिटल्स (DC) के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग ने उन्हें बहुत आत्मविश्वास दिया और यह उनकी हालिया सफलता के पीछे के कारणों में से एक है। कलाई के स्पिनर ने आगे कहा: “जब मुझे DC ने साइन किया था, मुझे याद है कि रिकी ने मुझे फोन किया था और उन्होंने मुझसे एक बात साफ-साफ कही थी कि मैं चाहे कैसी भी गेंदबाजी करूं, मैं सभी 14 मैच खेलूंगा।

इससे मुझे बहुत आत्मविश्वास मिला था और मैं सेटल महसूस कर रहा था। पोंटिंग इस बात की ज्यादा चिंता नहीं करते थे कि मैंने विकेट लिए हैं या नहीं। वह सिर्फ मुझे सलाह देते हैं कि एक गेंदबाज के रूप में, मैं किन क्षेत्रों में हिट कर सकता हूं।”