आपका सिर्फ मैच में जीत हासिल करने के बाद ही प्रेस वार्ता में शामिल होना बिल्कुल भी सही नहीं है- मोहम्मद अजहरुद्दीन - क्रिकट्रैकर हिंदी

आपका सिर्फ मैच में जीत हासिल करने के बाद ही प्रेस वार्ता में शामिल होना बिल्कुल भी सही नहीं है- मोहम्मद अजहरुद्दीन

न्यूजीलैंड के खिलाफ हार का सामना करने के बाद भारत की तरफ से प्रेस वार्ता में जसप्रीत बुमराह आए थे।

Rohit Sharma and Virat Kohli. (Photo Source: Getty Images)
Rohit Sharma and Virat Kohli. (Photo Source: Getty Images)

भारतीय टीम के लिए टी-20 वर्ल्ड कप 2021 अभी तक किसी बुरे सपने से कम साबित नहीं हुआ है। टीम को सुपर-12 के पहले ही मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद अगले मुकाबले में न्यूजीलैंड की टीम ने भारत को 8 विकेट से मात दे दी। लेकिन कीवी टीम के खिलाफ हार मिलने के बाद मैच के बाद हुई प्रेस वार्ता में कप्तान विराट कोहली की जगह जसप्रीत बुमराह आए।

इस कदम को लेकर सभी को हैरानी भी हुई जिसको लेकर अब पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने कोच रवि शास्त्री की आलोचना करते हुए कहा कि आप सिर्फ जीत में ही प्रेस वार्ता में शामिल नहीं हो सकते हैं। अजहरुद्दीन ने अपने बयान में कहा कि ऐसी स्थिति में रवि शास्त्री को सभी के सामने आते हुए सवालों का जवाब देना चाहिए था। यदि कप्तान कोहली नहीं आना चाहते थे, तो ठीक है, लेकिन ऐसे में शास्त्री को जरूर शामिल होना चाहिए था।

मोहम्मद अजहरुद्दीन ने एबीपी न्यूज के साथ बातचीत करते हुए कहा कि, मेरे विचार से इस प्रेस वार्ता में टीम के कोच को शामिल होना चाहिए था। यदि कप्तान विराट कोहली नहीं शामिल होना चाहते ठीक है। लेकिन ऐसे में कोच रवि शास्त्री को जरूर शामिल होना चाहिए था जिनके ना होने से काफी सवाल जरूर खड़े होंगे। क्योंकि आप सिर्फ जीत हासिल करने के बाद ही प्रेस वार्ता में शामिल नहीं हो सकते आपको हार पर भी उसी तरह से शामिल होना चाहिए था।

यदि आप हारते हैं, तो उसमें आपको छुपने की जरूरत नहीं है

वहीं पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने अपने बयान में यह भी कहा कि यदि आप एक या दो मैच हारते हैं, तो इसे आपको उसी तरह से लेना चाहिए जैसा आप जीत के समय रहते हैं। क्योंकि हार के समय बुमराह का प्रेस वार्ता में शामिल होना यह कहीं से भी कबूल नहीं है। किसी एक को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए ती, ताकि चीजें सही तरह से दिखें। खासकरके जब आपकी टीम एक बुरे दौर से गुजर रही हो।