बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन ने युसूफ पठान को नियुक्त किया अपनी टीम का मेंटोर - क्रिकट्रैकर हिंदी

बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन ने युसूफ पठान को नियुक्त किया अपनी टीम का मेंटोर

यूसुफ पठान बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन से कोई फीस नहीं लेंगे- बीसीए के सीईओ

Yusuf Pathan
Yusuf Pathan. (Photo by Daniel Berehulak/Getty Images)

भारत के पूर्व क्रिकेटर युसूफ पठान को बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन (बीसीए) ने जूनियर क्रिकटरों के साथ-साथ सीनियर क्रिकेटरों को ट्रेनिंग देने के लिए मेंटोर नियुक्त किया है। पठान जल्द ही बीसीए के साथ काम शुरू करने के लिए मेंटोर की भूमिका निभाएंगे, जिससे उनके होम टाउन वडोदरा के युवा और नए क्रिकेटरों को काफी सहायता मिलेगी।

पठान बंधु क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स (सीएपी) के माध्यम से भारत के विभिन्न हिस्सों में क्रिकेटरों की मदद करते रहे हैं। पूरे भारत में उनके 31 केंद्र हैं। हाल ही में सलेम, तमिलनाडु में उनकी क्रिकेट अकेडमी का उद्घाटन किया गया है। वडोदरा से भारतीय टीम को कई बड़े क्रिकेटर मिले हैं। पठान बंधुओं के अलावा, पांड्या बंधु (हार्दिक और क्रुणाल) और भारतीय महिला खिलाड़ी यास्तिका भाटिया और राधा यादव भी बड़ौदा के लिए खेलते हैं।

बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन के साथ मेंटोर की भूमिका में नजर आएंगे युसूफ पठान

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के हवाले से बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन के सीईओ शिशिर हट्टंगड़ी ने कहा कि, “यूसुफ को शामिल करने का निर्णय शुक्रवार को बीसीए शीर्ष परिषद द्वारा लिया गया था। उनका शुरुआती अनुबंध एक साल के लिए होगा और अगले सत्र में इसकी समीक्षा की जाएगी। साथ ही इस दौरान उन्होंने पठान की मुख्य भूमिकाओं के बारे में भी बताया।”

तेजी से रन बनाने की उनकी क्षमता के कारण, युसूफ पठान को दक्षिण अफ्रीका में खेले गए उद्घाटन टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भारत की टीम में जगह मिली। 2006-07 की रणजी ट्रॉफी में पठान का स्ट्राइक रेट बाकी खिलाड़ियों से काफी अच्छा था।

यूसुफ पठान ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद से कभी भी कोई भूमिका नहीं निभाई। ऑलराउंडर ने टी-20 वर्ल्ड कप 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल के दौरान इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया और अपने भाई इरफान पठान के साथ खेला। तब से, उन्होंने 57 एकदिवसीय और 22 T20I में भारत का प्रतिनिधित्व किया। वह लंबे समय तक इंडियन प्रीमियर लीग का भी हिस्सा रहे थे।