सैयद मुश्ताक़ अली ट्राफी 2018: युवराज और हरभजन सिंह पंजाब टीम और सुरेश रैना उत्तरप्रदेश टीम के लिये उपलब्ध रहेगे - क्रिकट्रैकर हिंदी

सैयद मुश्ताक़ अली ट्राफी 2018: युवराज और हरभजन सिंह पंजाब टीम और सुरेश रैना उत्तरप्रदेश टीम के लिये उपलब्ध रहेगे

Yuvraj Singh & Harbhajan Singh
Yuvraj Singh & Harbhajan Singh. (Photo Source: Twitter)

7 जनवरी से शुरू हो रहे सैयद मुश्ताक़ अली ट्राफी के आगामी सीजन के लिये युवराज सिंह और हरभजन सिंह की जोड़ी पंजाब के लिये उपलब्ध रहेगी. उम्मीद के मुताबिक दोनों दिग्गज खिलाड़ी इस टूर्नामेंट के ज़ोनल और इंटरजोनल के सभी मैच खेलेगे, जिसके प्रदर्शन के आधार पर वे आईपीएल 2018 के लिये खरीदगार भी ढूँढेगे.

हरभजन सिंह की बात करे, तो मुंबई इंडियंस के साथ 10 वर्षो तक जुड़े रहने के बाद इस बार उन्हें रिटेन नहीं किया गया हैं. टीम मैनेजमेंट ने कप्तान रोहित शर्मा के साथ युवा ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या और तेज गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह को रिटेन किया हैं. अब देखना यह महत्वपूर्ण की मुंबई इंडियंस अपने सबसे अनुभव खिलाड़ी के लिये ‘राइट टू मैच’ कार्ड का उपयोग करती है या नहीं.

दूसरी ओर, युवराज सिंह की बात करे तो इस टूर्नामेंट में अच्छे प्रदर्शन के साथ युवराज सिंह के 2  अहम मकसद होगे. पहला अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी और दूसरा आईपीएल के लिये ख़रीदार ढूँढना.

युवराज सिंह ने यो-यो फ़िटनेस टेस्ट पास कर लिया है, जिसके बाद इस टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करके वह दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध खेली जाने वाली आगामी 3 मैचो की टी-ट्वेंटी सीरीज के अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की उम्मीद लगाये हुए होगे.

पंजाब के चयनकर्ताओं ने अभी तक टीम की घोषणा नहीं की है, लेकिन युवी-भज्जी के अलावा सिद्धार्थ कौल, मनप्रीत गोनी टीम में स्वचालित चुने जा सकते हैं. लेग स्पिनर, राहुल शर्मा भी टीम में वापसी कर सकते हैं.

उत्तरप्रदेश के लिये उपलब्ध रहेगे सुरेश रैना

टी-ट्वेंटी लीग के लिये सुरेश रैना की उत्तरप्रदेश में वापसी तय है, और वह टीम के कप्तान हो सकते हैं. रैना अभी से टीम के साथ जुड़ चुके है, और टीम के नए कोच सुजित सोमसुन्दर और मंसूर अली खान की निगरानी में टीम के साथ अभ्यास कर रहे हैं.

उम्मीद जताई जा रही है, कि उत्तरप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन(यूपीसीए) रैना को दोबारा टीम की कमान सौंप सकते है, हालाँकि उनकी कप्तानी में उत्तरप्रदेश की टीम एक भी रणजी मैच नहीं जीत पाई थी. इसके आलावा व्यक्तिगत तौर पर भी रैना ने बेहद निराश करते हुये महज 105 रन बनाये थे.

यो-यो टेस्ट पास करने के बाद युवराज सिंह की तरह सुरेश रैना भी अच्छे प्रदर्शन के अंतराष्ट्रीय टी-ट्वेंटी क्रिकेट में वापसी की राह देख रहे होगे. सैयद मुश्ताक़ अली ट्राफी में दोनों का अच्छा प्रदर्शन इन्हें भारत की टी-ट्वेंटी टीम का टिकेट दिला सकता हैं.