अजिंक्य रहाणे को मिला पूर्व दिग्गज खिलाड़ी का साथ, खराब फॉर्म से बाहर निकलने के लिए दिए महत्वपूर्ण टिप्स - क्रिकट्रैकर हिंदी

अजिंक्य रहाणे को मिला पूर्व दिग्गज खिलाड़ी का साथ, खराब फॉर्म से बाहर निकलने के लिए दिए महत्वपूर्ण टिप्स

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज का आगाज 26 दिसंबर से होगा।

Ajinkya Rahane. (Photo Source: Getty Images)
Ajinkya Rahane. (Photo Source: Getty Images)

भारत और दक्षिण अफ्रीका तीन टेस्ट मैचों और तीन एकदिवसीय मैचों के लिए आमने-सामने होंगे। बहुप्रतीक्षित सीरीज से पहले, जहीर खान ने माना है कि भारत के बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे दबाव में हैं। 2021 में रहाणे का बल्ला बुरी तरह से फ्लॉप रहा, इस साल उन्होंने 12 टेस्ट में 19.57 की औसत से 411 रन बनाए हैं।

रहाणे का ये खराब फॉर्म टीम इंडिया के लिए चिंता का विषय रहा है। घर में न्यूजीलैंड के खिलाफ हालिया सीरीज में श्रेयस अय्यर ने अपनी पारी से सभी को प्रभावित किया था। टेस्ट में अय्यर के शानदर आगाज को देखते हुए कई दिग्गजों ने माना कि वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में रहाणे की जगह ले सकते हैं।

इसी बीच जहीर ने कहा कि रहाणे को अपने करियर के इस दौर से मानसिक दृढ़ता के साथ बाहर निकलना होगा। पूर्व तेज गेंदबाज ने यह भी कहा कि रहाणे को यह विश्वास करने की जरूरत है कि वह अपनी लय हासिल करने से सिर्फ एक अच्छी पारी से दूर है। उन्होंने यह भी कहा कि एक क्रिकेटर के रूप में उन्हें चुनौतियों को स्वीकार करने और उनका सामना करने की जरूरत है।

खराब फॉर्म से बाहर निकलने के लिए जहीर खान ने दिए रहाणे को टिप्स

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान जहीर ने कहा कि, “अजिंक्य रहाणे का प्रदर्शन मिलाजुला रहा। इसमें तो कोई शक ही नहीं है, वह भारी दबाव में है। किसी भी क्रिकेटर के लिए इस तरह के दौर से बाहर निकलने के लिए मानसिक मजबूती की जरूरत होती है। अच्छी बात यह है कि आप अभी भी टीम का हिस्सा हैं और आप एक पारी दूर हैं। एक बल्लेबाज या क्रिकेटर के तौर पर आपको ऐसा विश्वास होना चाहिए।”

पूर्व तेज गेंदबाज ने आगे कहा, “मेरे व्यक्तिगत अनुभव के अनुसार, अगर कोई खराब दौर से गुजर रहा है, तो आपको यह विश्वास होना चाहिए कि आप उस अच्छे प्रदर्शन से सिर्फ एक पारी या एक अच्छी पारी दूर हैं। यदि आप इसे हासिल कर लेते हैं, तो चीजें भी बहुत तेजी से बदलती हैं। इस स्तर पर मैं अजिंक्य को यही सलाह दूंगा। एक क्रिकेटर के तौर पर आपको इन चुनौतियों को स्वीकार करने और उनका सामना करने की जरूरत है।”