in

ट्रेंट बोल्ट के कातिलाना स्पेल ने तेज गेंदबाजी के युग की दिला दी याद

15 ओवर 8 मेडिन 30 रन और 6 विकेट। यह होता है कातिलाना गेंदबाजी का आंकड़ा। बहुत दिनों बाद इस तरह का गेंदबाजी का विश्लेषण देखने को मिल रहा है। न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज ने श्रीलंका के बल्लेबाजों के अपनी गेंदों के जरिये परखच्चे उड़ा दिए। बात हो रही है क्राइस्टचर्च में खेले जा रहे न्यूजीलैंड और श्रीलंका के बीच टेस्ट मैच की।

Trent Boult of New Zealand celebrates with teammates. (Photo by Anthony Au-Yeung/Getty Images)
Trent Boult of New Zealand celebrates with teammates. (Photo by Anthony Au-Yeung/Getty Images)

न्यूजीलैंड की पहली पारी 178 रनों पर ढह गई। सुरंगा लकमल ने 54 रन खर्च कर 5 बल्लेबाजों को पैवेलियन पहुंचा दिया। श्रीलंका की खुशी ज्यादा देर कायम नहीं रह पाई।

जब वे बल्लेबाजी के लिए उतरे तो यह सोचा होगा कि इतने रन बना लेना चाहिए कि दूसरी पारी खेलने की नौबत न आए, लेकिन ट्रेंट बोल्ट के इरादे कुछ और थे।

4 विकेट खोकर 94 रन की पारी को बड़ा आकार बोल्ट ने नहीं लेने दिया और 104 रन पर पूरी श्रीलंका टीम का पुलिंदा बांध दिया। आखिरी के 6 विकेट बोल्ट ने ले डाले और चार बल्लेबाजों को तो खाता भी नहीं खोलने दिया।

पुछल्ले बल्लेबाजों को तो गेंद ही नहीं दिखी और आखिरी के 4 बल्लेबाज एलबीडब्ल्यू हो गए।

वाकई में बोल्ट ने खौफनाक स्पेल डाला और दिखा दिया कि यदि वे रंग में हुए तो क्या कर सकते हैं। बोल्ट ने 15 गेंद और चार रन के अंदर 6 विकेट लेकर मैच का पासा पलट दिया। श्रीलंका की टीम 104 रन पर ढेर हो गई। उसने आखिरी छह विकेट 10 रन के अंदर गंवाए। इससे न्यूजीलैंड को पहली पारी में 74 रन की बढ़त मिली।

ये होता है तेज गेंदबाज का जलवा। एक जमाने में वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया या इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ऐसा करते थे। पिछले कुछ सालों में ऐसा कारनामा नजर नहीं आया। बोल्ट ने उस युग की याद दिला दी।

Virat Kohli of India celebrates. (Photo by Gareth Copley/Getty Images)

नए साल पर क्या होना चाहिए विराट कोहली सहित टीम इंडिया के खिलाड़ियों के संकल्प

Indian cricketer Ajinkya Rahane and Virat Kohli. (Photo by LAKRUWAN WANNIARACHCHI/AFP/Getty Images)

विराट कोहली के एक शॉट ने भारत को मेलबर्न टेस्ट मैच में पीछे किया