वो पांच खिलाड़ी जो बड़े विवाद में फंसने के बाद क्रिकेट के मैदान पर की शानदार वापसी - क्रिकट्रैकर हिंदी

वो पांच खिलाड़ी जो बड़े विवाद में फंसने के बाद क्रिकेट के मैदान पर की शानदार वापसी

पांच खिलाड़ियो की लिस्ट में एक भारतीय खिलाड़ी का भी नाम है मौजूद।

Virat Kohli and Ben Stokes
Virat Kohli and Ben Stokes. (Photo Source: Twitter)

क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें खिलाड़ियों को उनके देश की परवाह किए बिना पूजा जाता है। भारत में, क्रिकेटरों को भगवन के समान महत्त्व दिया जाता है। यह एक ऐसा खेल है जो देशभक्ति और अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा करता है, और इस खेल को लेकर फैंस भी काफी भावुक रहते हैं। क्रिकेटरों को अक्सर रोल मॉडल के रूप में रखा जाता है, लेकिन इस चक्कर में फैंस भूल जाते हैं कि वो भी इंसान हैं जिनसे कभी कभी गलती हो जाती है।

क्रिकेट में विवाद होना आम बात है, यह मैदान पर और बाहर दोनों जगह होता है। उनमें से कुछ ने एक क्रिकेटर के करियर और सामाजिक जीवन को इस हद तक बर्बाद कर दिया है कि वो कभी उबर नहीं पाए हैं। दूसरी ओर, कुछ खिलाड़ियों ने विवाद में पड़ने के बाद खुद में सुधार किया और अपने व्यक्तिगत रूप से खेल में सुधार किया करते हुए और भी बेहतर प्रदर्शन किया।

इस लेख में, हम  उन पांच खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे, जो बड़े विवादों में उलझने के बाद भी क्रिकेट के मैदान पर शानदार वापसी की और आलोचकों को करारा जवाब दिया

1) स्टीव स्मिथ

Steve Smith
Steve Smith, (Photo by Brook Mitchell/Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान सैंडपेपर कांड जैसे बड़े विवाद में फंस गए थे, जिसने पूरे क्रिकेट जगत को हिला कर रख दिया था। उन्होंने एक समाचार सम्मेलन बुलाया और दुनिया भर से कड़ी निंदा प्राप्त करने के बाद मीडिया के सामने टूट गए। स्मिथ ने तुरंत ऑस्ट्रेलिया के कप्तान के पद से इस्तीफा दे दिया और अपने गुनाहों को कबूल कर लिया। एक साल के लिए उन्हें अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट के सभी प्रारूपों से प्रतिबंधित कर दिया गया था।

बीसीसीआई ने उन्हें आईपीएल के 11वें संस्करण में भाग लेने से भी रोक दिया था। बाद में, उन्होंने राजस्थान रॉयल्स के कप्तान के रूप में पद छोड़ दिया। 2019 में उनका प्रतिबंध हटने के बाद उन्होंने आईपीएल 2019 में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी की। फिर उन्हें 2019 के लिए ऑस्ट्रेलिया के वनडे विश्व कप टीम में नामांकित किया गया।

विश्व कप के दौरान कई बार उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को पतन से बचाया। सेमीफाइनल में, उन्होंने हार के बावजूद महत्वपूर्ण 85 रन बनाए। दाएं हाथ के अपरंपरागत बल्लेबाज ने फिर एशेज में अपनी झलक जारी रखी जहां उन्होंने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन दिखाया। पांच मैचों में 110.57 की औसत से तीन शतक और तीन अर्द्धशतक के साथ 774 रन बनाने के बाद उन्हें ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ नामित किया गया था।

उस विवाद के बाद सभी मान रहे थे कि स्मिथ का करियर खत्म हो जाएगा और वो पहले की तरह वापसी नहीं कर पाएंगे लेकिन उन्होंने सभी को गलत साबित करते हुए जबरदस्त वापसी की। मौजूदा एशेज सीरीज की शुरुआत से ठीक पहले उन्हें उपकप्तान भी बनाया गया था।