कप्तानी और बल्लेबाजी में पंत रहे हैं फ्लॉप, लेकिन फिर भी पोंटिंग कर रहे हैं उनकी तारीफ - क्रिकट्रैकर हिंदी

कप्तानी और बल्लेबाजी में पंत रहे हैं फ्लॉप, लेकिन फिर भी पोंटिंग कर रहे हैं उनकी तारीफ

कप्तानी के साथ-साथ इस सीजन बल्लेबाजी में भी फेल रहे हैं ऋषभ पंत।

Rishabh Pant and Ricky Ponting ( Photo Credit: Twitter)
Rishabh Pant and Ricky Ponting ( Photo Credit: Twitter)

दिल्ली कैपिटल्स (DC) के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग ने रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ हार के बाद कप्तान ऋषभ पंत का समर्थन किया है। डीवाई पाटिल स्पोर्ट्स एकेडमी में गत चैंपियन द्वारा निर्धारित 209 रनों के लक्ष्य का पीछा करने में दिल्ली की टीम विफल रही और 91 रनों से मुकाबला हार गई। पंत के नेतृत्व में दिल्ली कैपिटल्स इस सीजन 11 में से केवल पांच मैच जीतने में सफल रहे हैं।

रिकी पोंटिंग का मानना है कि वो पंत के हर फैसले का सम्मान करते हैं। इसके साथ ही पोंटिंग ने पंत पर सवाल खड़े करने वाले लोगों पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि बाहर बैठकर बातें करना आसान है, लेकिन मैदान में जाकर फैसले लेना मुश्किल है।

 एक कप्तान बहुत कम समय में फैसले लेता है- रिकी पोंटिंग

मैच के बाद हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में रिकी पोंटिंग ने कहा कि, “मैं उनके (पंत) मैदान पर हर फैसले का पूरा समर्थन करता हूं। मैं भी टी20 कप्तान रह चुका हूं, इसलिए मुझे पता है कि आपके पास विशेष रूप से अत्यधिक दबाव में सोचने के लिए बहुत समय नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि बाहर से निर्णय लेना आसान है लेकिन मुझ पर विश्वास करें जब आप बीच में हों तो यह करना आसान काम नहीं है।”

रिकी पोंटिंग ने आगे कहा कि, “एक कप्तान बहुत कम समय में निर्णय लेता है और वह जो निर्णय लेता है उसे लगता है कि मैच के उस समय टीम के लिए सबसे अच्छा है। जब वह निर्णय लेता है तो वह बाउंड्री साइज और क्रीज पर बल्लेबाजों जैसी चीजों को ध्यान में रखता है।” हालांकि, उन्होंने स्वीकार किया कि सीएसके के खिलाफ हार में उनकी टीम ने खेल के सभी विभागों में खराब प्रदर्शन किया।

चेन्नई के खिलाफ बड़ी हार के बाद दिल्ली का रन रेट निगेटिव में चला गया है। इसे सुधारने के लिए आने वाले मुकाबलों में दिल्ली की टीम को बड़े अंतर से जीत दर्ज करनी होगी। पोंटिंग ने कहा कि दिल्ली अपने बाकी तीनों मैच जीतकर अभी भी प्लेऑफ में पहुंच सकती है।  उन्होंने आगे कहा कि टूर्नामेंट में आठ मैच जीतने पर उनकी टीम प्लेऑफ में पहुंच सकती है।