रहाणे, पुजारा और मयंक को खराब बल्लेबाजी के लिए आकाश चोपड़ा ने अलग अंदाज में लताड़ा - क्रिकट्रैकर हिंदी

रहाणे, पुजारा और मयंक को खराब बल्लेबाजी के लिए आकाश चोपड़ा ने अलग अंदाज में लताड़ा

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेटस सीरीज में भारत को 2-1 से हार का सामना करना पड़ा।

Cheteshwar Pujara, Aakash Chopra, and Ajinkya Rahane
Cheteshwar Pujara, Aakash Chopra, and Ajinkya Rahane. (Photo Source: Getty Images and Instagram)

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद सभी की नजरें अब वनडे सीरीज पर होगी जहां टीम इंडिया यहां के हार बदला लेना चाहेगी। लेकिन उससे पहले टेस्ट सीरीज में मिली हार को लेकर क्रिकेट जगत के तमाम दिग्गज अपनी राय देते हुए नजर आ रहे हैं। लगभग सभी का यही मानना है कि इस सीरीज में टीम इंडिया को हार बल्लेबाजी के वजह से मिली है।

खुद कप्तान विराट कोहली ने भी इस बात को स्वीकार किया कि बल्लेबाजों ने इस सीरीज में निराशाजनक प्रदर्शन किया। इसी बीच क्रिकेटर से कॉमेंटेटर बने टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने भी एक सनसनीखेज बयान दिया है। उनका ये बयान पुजारा, रहाणे और मयंक अग्रवाल की बल्लेबाजी को लेकर आया है।

पुजारा, रहाणे और मयंक को लेकर आकाश चोपड़ा ने क्या कहा?

अपने यूट्यूब वीडियो में आकाश चोपड़ा ने इस टेस्ट सीरीज का विश्लेषण किया और टीम इंडिया के हार का कारण बताया। उन्होंने चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और मयंक अग्रवाल की बल्लेबाजी विफलताओं को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टीम इंडिया की टेस्ट सीरीज हारने के कारणों में से एक के रूप में चुना है।

अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए आकाश चोपड़ा ने कहा कि, “पुजारा, अजिंक्य रहाणे और मयंक अग्रवाल के बल्ले से फ्लॉप रहे। मयंक अग्रवाल ने पहले मैच में अर्धशतक लगाया था। चेतेश्वर पुजारा और रहाणे ने भी सिर्फ एक दो अच्छी पारियां खेली लेकिन अगर आप विरोधी टीम को देखें तो उन्होंने उतने रन तो एक्स्ट्रा के तौर पर दे दिए जितने रन इन तीनों बल्लेबाजों ने छह पारियों के दौरान मिलकर बनाए।”

हालांकि, भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज ने स्वीकार किया कि दक्षिण अफ्रीका की परिस्थितियों में मयंक अग्रवाल के लिए शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी करना कठिन रहा है। आकाश चोपड़ा ने कहा कि, “आप समझ सकते हैं कि योगदान नहीं आया है। अगर योगदान नहीं आया, तो मध्य क्रम फिर से खराब हो गया, तो यह एक समस्या होगी। हमें पता था कि अफ्रीका में मयंक अग्रवाल के लिए यह मुश्किल होगा।”