मां के निधन के बावजूद खेला यह तेज गेंदबाज और टीम को जिताने में निभाई अहम भूमिका - क्रिकट्रैकर हिंदी

मां के निधन के बावजूद खेला यह तेज गेंदबाज और टीम को जिताने में निभाई अहम भूमिका

WI team (Twitter)
WI team (Twitter)

वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज अल्जारी जोसेफ की मां शेरॉन का शनिवार सुबह निधन हो गया। उस समय जोसेफ इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच खेल रहे थे। बजाय घर जाने के उन्होंने अपनी जवाबदारी निभाने की सोची और टीम के साथ वे खेलते रहे और उन्होंने इस दु:खों के पहाड़ का असर अपने पर नहीं होने दिया।

वेस्ट इंडीज टीम के मैनेजर रॉल लुईस ने कहा कि जब हमें पता चला कि अल्जारी की मां जोसेफ का निधन हो गया तो हम सबको बेहद दु:ख पहुंचा। वे पिछले कुछ समय से बीमार थीं और अब इस दुनिया में नहीं रहीं। हमें पता है कि यह समय अल्जारी और उनके परिवार के लिए मुश्किल से भरा है। तीसरे दिन का खेल शुरू होने के पहले यह खबर मिली। तब अल्जारी टीम के साथ हर्डल में मौजूद थे। वे चाहते तो घर जा सकते थे, लेकिन उन्होंने टीम के साथ बने रहने का फैसला लिया।

वेस्ट इंडीज टीम में अल्जारी के साथी खिलाड़ियों ने अल्जारी और उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की। मैच के तीसरे दिन दोनों टीमों के खिलाड़ी बाजू पर काली पट्टी बांध कर मैदान में उतरे थे।

अल्जारी ने लिए दो विकेट

 

Alzarri Joseph (Twitter)
Alzarri Joseph (Twitter)

इंग्लैंड के खिलाफ वेस्ट इंडीज ने दूसरा टेस्ट जीत कर सीरिज अपने नाम कर ली। विंडीज ने इस तरह से 3 मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त भी हासिल कर ली। उसने बारबाडोस में पहले टेस्ट मैच में भी 381 रनों से बड़ी जीत दर्ज की थी। दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड को दस विकेट से हराया। इंग्लैंड ने पहली पारी में 187 रन बनाए थे। विंडीज ने 306 रन बनाकर 119 रनों की बढ़त हासिल की।

रोच और होल्डर दोनों ने 4-4 विकेट लिए। जोसेफ ने सुबह अपनी मां शेरोन के निधन के बावजूद खेलना जारी रखा और 12 रन देकर 2 विकेट लिए। उन्होंने रूट और सलामी बल्लेबाज जो डेनली के महत्वपूर्ण विकेट हासिल किए। इस तरह से विंडीज को 14 रनों का लक्ष्य मिला। सलामी बल्लेबाज क्रेग ब्रेथवेट (नाबाद 5) और जॉन कैंपबेल (नाबाद 11) ने केवल 2.1 ओवर में अपनी टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया। कैंपबेल ने जेम्स एंडरसन पर मिडविकेट पर विजयी छक्का लगाया। ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे केमार रोच जिन्होंने मैच में 82 रन देकर 8 विकेट लिए। 1994 के बाद पहला अवसर है जबकि कैरेबियाई टीम ने इंग्लैंड को लगातार टेस्ट मैचों में हराया।

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने कहा कि यह निराशाजनक है। हार को पचा पाना बहुत मुश्किल है। वही विंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने कहा है कि उनकी टीम जीत की भूखी थी और इस वर्ष की शुरुआत अच्छी हुई है।