in

अनिल कुंबले और हरभजन सिंह भी ऐसा नहीं कर सके थे – वीरेन्द्र सहवाग

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की गेंदबाजी का दबदबा इसी बात से समझा जा सकता है कि अब तक पांच वनडे मैच में इन दोनो ने मिलकर कुल 30

Virender Sehwag
Virender Sehwag. (Photo Source: Twitter)

भारतीय टीम के पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका में मिली पहली वनडे सीरीज का विश्लेष्ण करते हुए इसका पूरा श्रेय भारतीय टीम के दो लेग स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव को दिया और साथ उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि ऐसा कम ही हुआ है कि गेंदबाजों ने इस तरह मैच जितायें हुए. भारतीय टीम ने मंगलवार को खेले गयें पांचवें वनडे मैच में 73 रन से जीत हासिल करते ही 6 मैच की वनडे सीरीज में 4-1 से अजेय बढत ले ली है.

कुलदीप चहल ने लिए 30 विकेट अब तक

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की गेंदबाजी का दबदबा इसी बात से समझा जा सकता है कि अब तक पांच वनडे मैच में इन दोनो ने मिलकर कुल 30 विकेट अपने नाम पर किये है जिसमे कुलदीप ने 16 और चहल ने 14 विकेट लिए है. इससे पहले 27 विकेट सबसे अधिक तय जब इंग्लैंड भारत के दौरे पर 2006 में 6 मैच की वनडे सीरीज खेलने के लिए आयीं थी और दक्षिण अफ्रीका की भी घर पर 9 सीरीज जीतने के बाद पहली सीरीज हार है.

अनिल कुंबले और हरभजन सिंह भी नही कर सके

वीरेन्द्र सहवाग ने क्रिकेट की बात के शो में इस वनडे सीरीज पर बात करते हुए बोला कि “ये कोई आसान बात नहीं है कि दक्षिण अफ्रीका को उसी की जमीन पर हराया जाएँ और ये हमारे लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है. कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल इस वनडे सीरीज में हमारे लिए सबसे बड़े सकारत्मक पहलू रहे. जो अनिल कुंबले और हरभजन सिंह नहीं कर सके वह कुलदीप और चहल ने कर दिखाया.”

पहली बार मिले ऐसे गेंदबाज

सहवाग ने अपनी बात को आगे बढाते हुए कहा कि “ऐसा पहली बार हुआ है कि भारतीय टीम को दो मैच जिताने वाले गेंदबाज मिले हो वनडे सीरीज में इससे पहले हम किसी बल्लेबाज को ऐसा करने के ढूढ़ रहे थे. कुलदीप और चहल को इसका श्रेय जरुर दिया जाना चाहिए.”

Indian-team-2

आखिरी वनडे में होगा टीम में बदलाव, सीरीज को 5-1 से जीतने की तैयारी

Ishant Sharma

ससेक्स काउंटी टीम के लिए खेलेंगे इशांत शर्मा इस सीजन