भारत-पाक मैच को लेकर सुरेश रैना ने कहा, हमेशा की तरह रोमांचक होगा ये मुकाबला - क्रिकट्रैकर हिंदी

भारत-पाक मैच को लेकर सुरेश रैना ने कहा, हमेशा की तरह रोमांचक होगा ये मुकाबला

भारतीय टीम के पास युवा और अनुभव का अच्छा मिश्रण है: सुरेश रैना

Suresh Raina
Suresh Raina. (Photo Source: Twitter)

भारत और पाकिस्तान के बीच हमेशा रोमांचक मुकाबले देखने को मिले हैं और जब मैच किसी ICC टूर्नामेंट का हो, तब ये रोमांच अपने चरम पर पहुंच जाता है। भारत-पाक मैच को लेकर कई दिग्गज अपनी राय साझा करते हुए नजर आए हैं और इसी कड़ी में भारत के टी-20 स्पेशलिस्ट कहे जाने वाले सुरेश रैना ने इस मुकाबले को लेकर कई अहम बातें बोली हैं।

भारत-पाक मैच को लेकर सुरेश रैना की राय

सुरेश रैना ने इस महा-मुकाबले को लेकर कहा, “पाकिस्तान के खिलाफ मैचों में मेरा अनुभव यह रहा है कि उन्होंने हमेशा दिल खोलकर खेला है। जब भी भारत और पाकिस्तान खेलते हैं तो फैंस को यह रोमांचक मुकाबले देखने में बड़ा मजा आता है। जो भी लोग इस मैच से मनोरंजन की अपेक्षा रखते हैं, उन्हें कभी भी निराशा हाथ नहीं लगी है।”

रैना ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा, “मैं 2014 और 2016 टी-20 वर्ल्ड कप में टीम का हिस्सा था। अगर आप मुझसे पूछें तो एक खिलाड़ी के रूप में यह मुकाबला हमेशा ही बड़े दबाव वाला रहा है। हर कोई आपको बता रहा होता है कि यह कितना बड़ा मैच है। आपको यह सुनिश्चित करना है कि इस मैच में आप खुद को कैसे शांत करते हैं। इस मैच में जरूरत यही रहती है कि हम अपने प्रक्रिया पर ध्यान दें और 40 ओवर की अच्छी क्रिकेट खेलें।”

विराट कोहली और बाबर आजम शानदार कप्तान हैं: सुरेश रैना

विराट कोहली और बाबर आजम की कप्तानी पर अपनी राय रखते हुए सुरेश रैना ने कहा, “इस साल यह मैच और रोमांचक हो जाएगा क्योंकि विराट कोहली और बाबर आजम दोनों शानदार कप्तान हैं और उन्हें पता है कि ये मैच कितना महत्वपूर्ण है इसलिए दोनों ही खिलाड़ी इस मैच में खेल के प्रति पूरा जुनून दिखाएंगे। बाबर आजम दुनिया के नंबर एक टी-20 बल्लेबाज हैं। विराट कोहली की तरह वह भी इस बात की गवाही देते हैं कि अच्छी बल्लेबाजी और अच्छी कप्तानी साथ-साथ हो सकती है।”

भारत की दृष्टिकोण से अच्छी बात यह है कि विराट के पास रोहित शर्मा, रवींद्र जडेजा के साथ अनुभवी खिलाड़ियों की लाइन अप है। आईपीएल के लिए धन्यवाद हमारी टीम को यूएई में खेलने और वहां की परिस्थितियों से निपटने का बहुत अच्छा अनुभव है। दूसरी ओर यह भी सच है कि बाबर आजम के पास शोएब मलिक और मोहम्मद हफीज जैसे वरिष्ठ खिलाड़ी हैं। बाबर आजम का बतौर कप्तान यह पहला बड़ा टूर्नामेंट है और टीम में अनुभवी खिलाड़ियों के होने से उन्हें काफी मदद मिलेगी।

प्रशंसकों ने कई वर्षों से इस प्रतिद्वंद्विता का आनंद उठाया है। यह कपिल देव, इमरान खान, सौरव गांगुली, इंजमाम उल हक, महेंद्र सिंह धोनी की पीढ़ी से चला आ रहा है और अब यह विराट कोहली और बाबर आजम के पास है, यह एक महान विरासत है।