एशिया कप 2022 में भारत और पाकिस्तान के बीच में खेले जाने वाले मुकाबले के टिकट बिक्री को 15 अगस्त से शुरू किया जाएगा - क्रिकट्रैकर हिंदी

एशिया कप 2022 में भारत और पाकिस्तान के बीच में खेले जाने वाले मुकाबले के टिकट बिक्री को 15 अगस्त से शुरू किया जाएगा

एशिया कप 2022 में भारत और पाकिस्तान के बीच में मुकाबला 28 अगस्त को खेला जाएगा।

Team India (Photo Source: Twitter)
Team India (Photo Source: Twitter)

एशिया कप 2022 में जिस मैच को लेकर करोड़ो क्रिकेट फैंस काफी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, वह 28 अगस्त को दुबई के मैदान पर खेला जाने वाला भारत बनाम पाकिस्तान का मैच है। दोनों ही चिर-प्रतिद्वंदियों के बीच में साल 2021 में खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप के बाद अब भिड़ंत देखने को मिलेगी। इस मैच की टिकट बिक्री 15 अगस्त से शुरू की जाएगी, जिसको लेकर एशियन क्रिकेट काउंसिल (ACC) ने एक ट्वीट के जरिए जानकारी को साझा किया।

टी-20 फॉर्मेट में खेले जाने वाले इस बार के एशिया कप का पहला मैच 27 अगस्त को श्रीलंका और अफगानिस्तान के बीच में होगा। बता दें श्रीलंका, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, भारत और बांग्लादेश पहले ही मुख्य टूर्नामेंट के लिए क्वालिफाई कर चुकी हैं। जबकि यूएई, कुवैत, सिंगापुर, हांगकांग और ओमान के बीच में क्वालिफाई राउंड खेला जाएगा जिसमें एक टीम मुख्य टूर्नामेंट के लिए क्वालिफाई करेगी।

15 अगस्त से शुरू की जाएगी एशिया कप मैचों की टिकट बिक्री – ACC

एशियन क्रिकेट काउंसिल ने एक ट्वीट करते हुए लिखा कि, 15 अगस्त 2022 से आगामी एशिया कप के मैचों की टिकट बिक्री को शुरू किया जाएगा। जिसमें आप दिए हुए लिंक पर जाकर अपने लिए टिकट्स को बुक कर सकते हैं।

बता दें इस समय पाकिस्तानी टीम नीदरलैंड के दौरे पर वनडे सीरीज खेलने गई है। जिसमें वह मेजबान टीम के खिलाफ 3 मैच खेलेगी और उसके बाद सीधे एशिया कप में खेलने उतरेगी। वहीं भारतीय टीम इस समय जिंबाब्वे दौरे के लिए रवाना हो चुकी है जहां पर उसे भी 3 मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है। इस वनडे सीरीज में भारतीय टीम की कप्तानी का जिम्मा लंबे समय के बाद वापसी कर रहे अनुभवी ओपनिंग बल्लेबाज लोकेश राहुल संभालेंगे।

इसके अलावा जिंबाब्वे दौरे के लिए कई और भी खिलाड़ियों की भारतीय टीम में वापसी देखने को मिली है, जिसमें तेज गेंदबाज दीपक चाहर की भी टीम में वापसी देखने को मिली है। वहीं एशिया कप को लेकर बात की जाए तो उसका आयोजन पहले श्रीलंका में किया जाना था, लेकिन वहां पर राजनीतिक और आर्थिक हालात को देखते हुए ACC ने इसका आयोजन यूएई में कराने का फैसला किया जिसमें मेजबानी का जिम्मा श्रीलंका ही निभाएगा।