'ऐसा लगा जैसे हम टेस्ट खेल रहे थे'- RR के खिलाफ मिले हार पर बोले फाफ डु प्लेसिस - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘ऐसा लगा जैसे हम टेस्ट खेल रहे थे’- RR के खिलाफ मिले हार पर बोले फाफ डु प्लेसिस

फाफ डु प्लेसिस ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों की भी जमकर तारीफ की।

RCB captain Faf du Plessis (Photo Source: RCB/Twitter)
RCB captain Faf du Plessis (Photo Source: RCB/Twitter)

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) को शुक्रवार (27 मई) को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के दूसरे क्वालीफायर में राजस्थान रॉयल्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में जोस बटलर ने शानदार बल्लेबाजी की और अकेले ही अपनी टीम को फाइनल तक ले जाने में कामयाब रहे। उनकी 60 गेंदों में नाबाद 106 रनों की पारी के बदौलत राजस्थान आसानी से 158 रनों का लक्ष्य हासिल करने में सफल रही।

इस मैच के बाद फाफ डु प्लेसिस ने स्वीकार किया कि इस मैच में राजस्थान आरसीबी पर हावी रही, उन्होंने यह भी दावा किया कि दूसरी पारी में बल्लेबाजी आसान हो गई। उन्होंने आरसीबी की पारी के पहले कुछ ओवरों की तुलना टेस्ट क्रिकेट से की और कहा कि उस वक्त गेंद काफी घूम रही थी।

पहले छह ओवर्स में गेंद काफी स्विंग कर रही थी- फाफ डु प्लेसिस

मैच के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में फाफ डु प्लेसिस ने कहा कि, “जब हम पहली पारी के बाद मैदान से बाहर गए तो मुझे लगा कि हमने कुछ रन कम बनाए हैं। पहले 3-4 ओवर चुनौतीपूर्ण थे, गेंद घूम रही थी। मुझे लगा कि 180 उस पिच पर एक अच्छा स्कोर होता। पहले छह ओवर टेस्ट क्रिकेट की तरह लग रहा था। अन्य विकेटों की तुलना में, इस पिच कर नई गेंद स्विंग कर रही थी, और फिर बाद में बल्लेबाजी में आसान हो गया।”

पहली आईपीएल ट्रॉफी जीतने के लिए आरसीबी का इंतजार अभी भी जारी है, लेकिन फाफ डु प्लेसिस का मानना ​​​​है कि उनका सीजन शानदार रहा और जिस तरह से उनकी टीम खेली, उस पर उन्हें गर्व है। उन्होंने सभी फैंस को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने रॉयल्स के खेलने के तरीके की भी सराहना की और माना कि वे आरसीबी की तुलना में फाइनल खेलने के काबिल थे।

उन्होंने कहा कि, “आरसीबी के लिए शानदार सीजन। वास्तव में गर्व है। कप्तान के रूप में मेरा पहला सीजन अच्छा रहा है और हम जहां भी जाते हैं वहां फैंस हमे सपोर्ट करते हैं। हमारा समर्थन करने के लिए सभी लोगों का बहुत-बहुत धन्यवाद। यह हार वास्तव में मजबूत राजस्थान टीम के खिलाफ आया, जो शायद हमसे ज्यादा इसकी हकदार है।”