प्रमुख घरेलू टूर्नामेंटों की इनामी राशि को लेकर बीसीसीआई जल्द लेगा बड़ा फैसला - क्रिकट्रैकर हिंदी

प्रमुख घरेलू टूर्नामेंटों की इनामी राशि को लेकर बीसीसीआई जल्द लेगा बड़ा फैसला

बीसीसीआई ने एपेक्स काउंसिल की बैठक में कुछ अहम फैसले लिए।

Ranji Trophy 2022 Champions.(Photo Source: Twitter)
Ranji Trophy 2022 Champions.(Photo Source: Twitter)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) कथित तौर पर रणजी ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी सहित अन्य घरेलू टूर्नामेंटों के लिए पुरस्कार राशि बढ़ाने की योजना बना रहा है। रणजी ट्रॉफी विजेता को अब कथित तौर पर 2 करोड़ रुपये की राशि पुरस्कार स्वरूप दी जाएगी।

बीसीसीआई (BCCI) ने हाल ही में आईपीएल मीडिया अधिकारों की नीलामी से 48,390 करोड़ रुपये की चौंका देने वाली राशि अर्जित की है, और कहा जा रहा है कि इस रिकॉर्ड-तोड़ कमाई ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड को घरेलू प्रतियोगिताओं के लिए पुरस्कार राशि में बढ़ोत्तरी करने के लिए प्रेरित किया है।

घरेलू टूर्नामेंटों के लिए पुरस्कार राशि बढ़ाएगी बीसीसीआई

21 जुलाई को बीसीसीआई (BCCI) की एपेक्स काउंसिल की बैठक के दौरान कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए, जिसमे लिस्ट-ए टूर्नामेंट देवधर ट्रॉफी को घरेलू कार्यक्रम से हटा दिया जाना शामिल है। इस साल भारत में एक पूर्ण घरेलू सीजन का आयोजन होने वाला है, जिसमें दलीप ट्रॉफी और ईरानी कप के साथ-साथ नियमित प्रतियोगिताएं रणजी ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी शामिल है।

बीसीसीआई (BCCI) के एक अधिकारी ने द इंडियन एक्सप्रेस के हवाले से कहा: “इस साल सितंबर से शुरू होने वाले घरेलू सीजन के दौरान इतने सारे मैच खेले जाने है कि हमें देवधर ट्रॉफी के आयोजन के लिए जगह नहीं मिली। इसके अलावा, एपेक्स काउंसिल ने राज्य संघो और बीसीसीआई के पदाधिकारियों को संशोधित पुरस्कार राशि पर निर्णय लेने का अधिकार देने का फैसला किया है।”

बोर्ड के अधिकारी ने आगे कहा: “बीसीसीआई अगले घरेलू सीजन के लिए डीआरएस (DRS) प्रणाली लागू करने के लिए सहमत हो गया है। अगर सब कुछ सुचारू रूप से चला, तो बीसीसीआई के पास सभी लाइव मैचों के लिए एक डीआरएस (DRS) सिस्टम उपलब्ध होगा।”

आपको बता दें, इस साल दिसंबर में शुरू होने वाली रणजी ट्रॉफी में एक बार फिर एलीट और प्लेट डिवीजन होंगे, जहां 32 टीमों को 8-8 के चार एलीट समूहों में विभाजित किया जाएगा, शेष 6 टीमों को प्लेट समूह में रखा जाएगा।