'द एशेज' पर कोरोना ने बरपाया अपना कहर, इंग्लैंड टीम के चार सदस्य पाए गए कोरोना पॉजिटिव - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘द एशेज’ पर कोरोना ने बरपाया अपना कहर, इंग्लैंड टीम के चार सदस्य पाए गए कोरोना पॉजिटिव

27 दिसंबर को इंग्लैंड की टीम का एक बार फिर से कोविड टेस्ट किया जाएगा।

England. (Photo by Robert Cianflone/Getty Images)
England. (Photo by Robert Cianflone/Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड क्रिकेट टीम  के बीच जारी प्रतिष्ठित टूर्नामेंट ‘द एशेज’ से एक बुरी खबर निकलकर सामने आई है। दोनों टीमों के बीच इस सीरीज का तीसरा महत्वपूर्ण मुकाबला मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेला जा रहा है। इस अहम मुकाबले के दूसरे दिन के खेल से पहले मेहमान इंग्लैंड टीम के चार सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

बताया जा रहा है कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए सदस्यों में दो शख्स स्पोर्ट स्टाफ और दो खिलाड़ियों के परिवार से हैं। इंग्लैंड की टीम दूसरे दिन की सुबह ग्राउंड पर 30 मिनट देरी से पहुंची क्योंकि चार मामलों के सामने आने के कारण पूरे टीम को कोविड-19 टेस्ट से गुजरना पड़ा। दूसरे दिन के खेल के दौरान अतिरिक्त एहतियाती कदम उठाए जाने की भी सूचना है।

कोरोना मामलों के बीच जारी रहेगा एशेज टेस्ट मैच

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि, “क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को सूचित किया गया है कि इंग्लैंड क्रिकेट टीम के सहयोगी स्टाफ के दो सदस्यों और उनके परिवार के दो सदस्य ने कोविड -19 रैपिड एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। संक्रमित सदस्य वर्तमान में आइसोलेशन में हैं। पूरे खेल समूह और अन्य सभी सहयोगी स्टाफ ने आज सुबह रैपिड एंटीजन टेस्ट किया है और सभी का रिपोर्ट निगेटिव आया है।

साथ ही में उस बयान में ये भी कहा गया है कि वर्तमान में प्रशंसकों या आयोजन स्थल के अन्य हिस्सों पर कोई और प्रभाव नहीं है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और एमसीसी स्थिति की निगरानी करना जारी रखेंगे और समर्थित विक्टोरियन सरकार कोविड-सुरक्षित कार्यक्रम योजना का पालन करेंगे।

बता दें कि 26 दिसंबर के दिन विक्टोरिया में 57818 टेस्ट में से 1999 नए कोविड मामले सामने आए। इस बीच, न्यू साउथ वेल्स ने 27 दिसंबर को 48000 से अधिक टेस्ट में से 6324 नए कोरोनो वायरस मामले दर्ज किए हैं, लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के CEO निक हॉकले ने कहा कि सिडनी में 5 जनवरी से शुरू होने वाले चौथे टेस्ट पर किसी भी तरह का कोई खतरा नहीं है।