लगातार फ्लॉप हो रहे विराट कोहली को बार-बार मौका दिए जाने पर भड़के माइकल वॉन - क्रिकट्रैकर हिंदी

लगातार फ्लॉप हो रहे विराट कोहली को बार-बार मौका दिए जाने पर भड़के माइकल वॉन

माइकल वॉन ने भारत की प्लेइंग इलेवन में विराट कोहली के चयन की आलोचना की!

Michael Vaughan and Virat Kohli. (Photo Source: Getty Images)
Michael Vaughan and Virat Kohli. (Photo Source: Getty Images)

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन का मानना है कि भारतीय क्रिकेट टीम में विराट कोहली की जगह को लेकर सवाल लगातार खड़े हो रहे हैं, और इंग्लैंड और भारत के बीच टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज के समापन के बाद टीम में उनकी जगह को लेकर पूर्व कप्तान की चिंताए और भी बढ़ गई हैं।

आपको बता दें, टीम इंडिया और इंग्लैंड क्रिकेट टीम के बीच खेली गई टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज के पहले मैच में विराट कोहली को आराम दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने दूसरे मैच में वापसी की और 1 रन बनाकर पवेलियन लौटे। हालांकि, पूर्व भारतीय कप्तान ने तीसरे और अंतिम मैच में अच्छी शुरुआत की, लेकिन वह केवल 11 रन ही बना पाए और टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ 17 रनों की शिकस्त झेलनी पड़ी।

माइकल वॉन ने विराट कोहली को फिर दी ब्रेक लेने की सलाह

इंग्लैंड बनाम भारत T20I सीरीज के समापन के बाद माइकल वॉन ने विराट कोहली के संदर्भ में कहा कि एक खिलाड़ी को केवल उसके द्वारा अतीत में किए गए प्रदर्शन के बदौलत ही नहीं टीम में नहीं चुना जा सकता है, उसका टीम में बने रहने के लिए वर्तमान प्रदर्शन बहुत मायने रखता है।

माइकल वॉन ने क्रिकबज को बताया: “मुझे लगता है कि विराट कोहली को अच्छे स्ट्राइक रेट से रन बनाने की बहुत ज्यादा जरूरत है। मुझे पूरा यकीन है कि मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा इस समय विराट को भारतीय टीम से बाहर करने पर विचार नहीं कर रहे हैं। लेकिन आप एक खिलाड़ी को सिर्फ इसलिए टीम में नहीं चुन सकते क्योंकि उसने अतीत में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है।”

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने आगे कहा: “मुझे लग रहा था कि कोहली ट्रेंट ब्रिज में अपने फॉर्म लौट आएगा, क्योंकि वहां वह शानदार स्ट्राइक रेट से तीव्रता से रन बना सकता था, पर ऐसा नहीं हुआ। मैं हमेशा कहता रहा हूं कि कोहली को एक ब्रेक की जरूरत है क्योंकि इससे उन्हें काफी मदद मिलेगी, और मुझे लगता है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज का हिस्सा न होना उनके लिए कमाल कर सकता है।”