in

चेन्नई सुपर किंग्स के पास सलामी बल्लेबाज़ों की है पूरी फौज, देखिए 5 बड़े विकल्प

सलामी जोड़ी चुनना टीम मैनेजमेंट के लिए माथापच्ची का काम है, लेकिन आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए ऐसी कोई समस्या नहीं है। ओपनिंग बैटिंग के लिए पूरी फौज चेन्नई सुपर किंग्स के पास है।

Shane Watson & Suresh Raina
Chennai Super Kings’ Suresh Raina and Shane Watson. (Photo by Surjeet Yadav/IANS)

टी20 क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज़ों का संयोजन करना किसी भी टीम के लिए बेहद ज़रूरी है। सही सलामी जोड़ी चुनना टीम मैनेजमेंट के लिए माथापच्ची का काम है, लेकिन आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए ऐसी कोई समस्या नहीं है। ओपनिंग बैटिंग के लिए पूरी फौज चेन्नई सुपर किंग्स के पास है।

चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल के इतिहास की सबसे सफल टीम है। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में इस टीम ने न केवल सबसे अधिक खिताब जीते हैं बल्कि यह टीम अपने कॉम्बिनेश को बरकरार रखने के साथ साथ अपने प्रदर्शन में निरंतरता रखने में भी सफल रही है।

इस बार आईपील 2019 में चेन्नई सुपर किंग्स के पास सलामी बल्लेबाज़ के रूप में पांच ऐसे बल्लेबाज़ हैं जो किसी भी टी 20 टीम के लिए पारी की शुरुआत कर सकते हैं।

शेन वॉटसन :

आईपीएल के शुरुआत से ही शेन वॉटसन ने अपना तूफानी खेल दिखाया है। पिछ्ले साल वॉटसन को चेन्नई सुपर किंग्स ने अपने साथ शामिल किया और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में वे कमाल का खेले। धोनी ने उनसे पारी की शुरुआत करवाई और आईपीएल 2018 के फाइनल में उनकी पारी कौन भूल सकता है।

उन्होंने पिछ्ले साल 555 रन बनाए थे और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 154.49 रहा था। वॉटसन इस बार सीएसके के लिए सलामी बल्लेबाज़ की भूमिका निभा सकते हैं।

अंबाती रायडू :

इस खिलाड़ी ने पिछ्ले कुछ महीनों में बतौर बल्लेबाज़ बहुत तरक्की की है। रायडू पारी की शुरुआत करने से लेकर नंबर चार तक खेलने में सक्षम हैं। पिछ्ले सीज़न में वे टीम के लिए यह भूमिका निभा चुके हैं।

पिछ्ले साल आईपीएल में रायडू ने 43.00 की औसत से 602 रन बनाए थे और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 150.00 रहा था। एक सलामी बल्लेबाज़ अगर ऐसा प्रदर्शन कर दे तो फिर कप्तान को और क्या चाहिए।

फाफ डू प्लेसिस :

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डू प्लेसिस पारी को एंकर करने से लेकर उसको तूफानी रूप देने में सक्षम हैं। वे हर सिचुएशन में अपना खेल बदल सकते हैं। यह सर्वमान्य तथ्य है कि फाफ डू प्लेसिस दुनिया की किसी भी टीम में जगह बना सकते हैं। अगर ज़रूरत पड़ी तो वे चेन्नई सुपर किंग्स के लिए सलामी बल्लेबाज़ की भूमिका निभा सकते हैं।

मुरली विजय :

अगर मुरली विजय को मौका मिला तो वे एक बार फिर चेन्नई सुपर किंग्स के लिए सलामी बल्लेबाज़ की भूमिका निभा सकते हैं। सीएसके के फैंस को याद होगा कि मुरली विजय के कई बार आईपील में यादगार पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई है। एक बार तो फाइनल मैच में शतक बनाया था।

मुरली विजय फॉर्म में हैं और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में उन्होंने 61.25 के औसत से 261 रन बनाए हैं और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 148.29 रहा।

नारायन जगदीशन :

तमिल्नाडु के लिए नारायन जगदीशन सलामी बल्लेबाज़ की भूमिका निभाते रहे हैं। तमिलनाडु प्रीमियर लीग में उनकी बल्लेबाज़ी क देखकर हर कोई प्रभावित हुआ।

जगदीशन चेन्नई सुपर किंग्स को एक ऐसा विकल्प देते हैं जिससे कि उसकी बल्लेबाज़ी और भी संतुलित हो जाती है। एक युवा बल्लेबाज़ जिसके पास किताबी स्ट्रोक के साथ साथ टी 20 क्रिकेट के इनोवेटिव शॉट भी हैं, वह टीम की ज़रूरत के हिसाब से खुद को ढाल सकता है।

तमिलानाडु प्रीमियर लीग के बाद सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी जगदीशन ने कमल का खेल दिखाया है। सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर वे चेन्नई सुपर किंग्स के विकल्प हैं।

Chennai Super Kings

चेन्नई सुपर किंग्स ने पहले मैच की कमाई शहीदों को देने का किया फैसला

Pat Cummins (Twitter)

पाकिस्तान के खिलाफ पहले वनडे में ऐसी पिच पर खेलेगी ऑस्ट्रेलियाई टीम, संभावित प्लेइंग इलेवन