SRH की कप्तानी छीने जाने पर डेविड वॉर्नर ने तोड़ी चुप्पी - क्रिकट्रैकर हिंदी

SRH की कप्तानी छीने जाने पर डेविड वॉर्नर ने तोड़ी चुप्पी

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में डेविड वॉर्नर दूसरे सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे।

David Warner. (Photo by AAMIR QURESHI/AFP via Getty Images)
David Warner. (Photo by AAMIR QURESHI/AFP via Getty Images)

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में ऑस्ट्रेलियाई टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में डेविड वॉर्नर की भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही थी। वॉर्नर इस टूर्नामेंट में दूसरे सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे, उन्होंने 7 पारियों में 48.17 की शानदार औसत से 289 रन बनाए और प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया।

इस टी-20 वर्ल्ड कप से पहले डेविड वॉर्नर यूएई में खेले गए IPL के दूसरे फेज में खेलते हुए दिखे थे, हालांकि उनका ये IPL सीजन उतना अच्छा नहीं रहा था। इस सीजन बल्ले से फ्लॉप रहने के बाद उनसे हैदराबाद की कप्तानी भी ले ली गई थी और सीजन के अंत में उन्हें प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दिया गया था।

वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करने के बाद वार्नर ने कप्तानी से हटाए जाने और सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को लेकर खुल कर बात की है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि कैसे इन सब बातों को पीछे छोड़ कर वह वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन किया और प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का पुरस्कार जीता।

टीम से बाहर होने पर डेविड वॉर्नर ने क्या कहा ?

इकोनॉमिक टाइम्स से बातचीत करते हुए डेविड वॉर्नर ने कहा है कि, “जब आप उस टीम से ड्रॉप किए जाते हैं जिसे आपने इतने सालों तक काफी प्यार दिया है तो फिर काफी दुख होता है। बिना किसी बात के कप्तानी छीन लेने से मुझे दुख हुआ। हालांकि मुझे कोई शिकायत नहीं है। भारत में फैंस ने हमेशा मेरा समर्थन किया और उनके लिए ही आप खेलते हैं। हम खेल का आनंद लेने के लिए खेलते हैं।”

डेविड वार्नर ने यह भी कहा कि भले ही उन्हें SRH प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली, लेकिन उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ देना जारी रखा था। उन्होंने कहा कि, “मेरे लिए आईपीएल टीम में जगह न पाने का जो भी कारण रहा हो, लेकिन मैं आपको बता सकता हूं कि मैंने अब तक का सबसे कठिन अभ्यास किया था। मैंने एक भी दिन अभ्यास नहीं छोड़ा”

टी-20 वर्ल्ड कप में अपनी वापसी पर वॉर्नर ने कहा कि, “जबकि यह सब हुआ तो, मुझे पता था कि मेरे पास एक और मौका होगा। यदि आप खेल के प्रति सच्चे हैं और कड़ी मेहनत करते रहते हैं, तो आपके पास हमेशा दूसरा मौका होता है। मैं बस सच्चा रहना चाहता था। मुझे खुशी है कि यह मेरे लिए काम आया।”