डेविड वार्नर नही करेंगे बैन के खिलाफ अपील - क्रिकट्रैकर हिंदी

डेविड वार्नर नही करेंगे बैन के खिलाफ अपील

David Warner
David Warner of SRH. (Photo Source: Twitter)

क्रिकेट जगत में पिछले महीने हुए बॉल टेम्परिंग मामले को भला कौन भूल सकता है दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच केपटाउन में खेले गए टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज ने बॉल से छेड़छाड़ की थी जिसके बाद मामला प्रकाश में आया और इस पर जांच की गई जिसमें ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्मिथ उपकप्तान वार्नर सहित गेंदबाज़ बैनक्राफ्ट को दोषी पाया गया जिसके बाद सीए इन ख़िलाड़ियों को क्रिकेट से एक वर्ष के लिए प्रतिबंधित कर दिया है.

जहां ऑस्ट्रेलिया के पूर्व उपकप्तान डेविड वॉर्नर ने यह साफ कर दिया की क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा लगाए गए एक साल के प्रतिबंध को मैं झेलने के लिए तैयार हूं और मैं इस  प्रतिबंध के खिलाफ  कोई अपील नहीं करूंगा वहीं बात दु की ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्मिथ और गेंदबाज बैनक्राफ्ट ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है कि ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के खिलाफ वह भी कोई अपील नहीं करेंगे. जहां ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान डेविड वॉर्नर ने इसकी जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करके दी है.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के फैसले के खिलाफ अपील करने के लिए इन तीनों खिलाड़ियों के पास 5 अप्रैल तक का समय सीमा तय की गई थी जो कि अब समाप्त हो गई है हालांकि तीनों खिलाड़ियों ने इस फैसले के खिलाफ अपील करने से साफ तौर पर मना कर दिया है जहां ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्मिथ ने इस मामले पर ट्वीट कर कहा है कि ‘मैं इस घटना को भूलने के लिए और अपने देश का क्रिकेट में प्रतिनिधित्व करने के लिए कुछ भी करूंगा और मैं जो कहता हूं उससे बात की कीमत रखता हूं मैं इस टीम के कप्तान होने के नाते इस घटना की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं’ वहीं स्मिथ ने अपने ट्वीटर में यह भी कहा कि मैं इस फैसले के खिलाफ कोई अपील नहीं करूंगा’ क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने यह प्रतिबंध के फैसले को एक करा मैसेज देने के लिए लगाया है जिसे मैंने स्वीकारा है.

हलाकि जब तीनों खिलाड़ियों को दोषी करार दिया गया और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इन पर 1 साल का प्रतिबंध लगाया था जिसके बाद स्वदेश लौट कर इन खिलाड़ियों ने मीडिया के सामने सफाई देते हुए अपनी बात रखी थी और बात रखते हुए इनकी आंखें भर आई थी जो कि सोशल मीडिया पर काफी चर्चा का विषय बना रहा था जिसके बाद एक समय लगा कि इन खिलाड़ियों के अपील के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अपने फैसले में थोड़ी नरमी दिखा सकती है लेकिन अब जब इन खिलाड़ियों ने अपील ना करने का फैसला लिया है तो इससे क्रिकेट जगत में वाकई एक बड़ा मैसेज जाता है.