in

साहा और पार्थिव के बाद अब कार्तिक संभालेंगे मोर्चा

रिद्धिमान साहा और पार्थिव पटेल से दिनेश कार्तिक की बल्लेबाजी काफी अच्छी है

Dinesh Karthik
Dinesh Karthik (Photo Source: Twitter)

भारत-दक्षिण अफ्रीका दौरे पर है जहां तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जानी है और दो टेस्ट मैच खेले जा चुके हैं जिसमें मेजबान टीम दक्षिण अफ्रीका ने 2-0 के बढ़त के साथ टेस्ट सीरीज को अपने झोली में डाल लिया हैं और तीसरा टेस्ट मैच 24 जनवरी बुधवार से खेली जानी है जिसके लिए दोनों टीमों ने कमर कस लिया है जहां मेजबान टीम दक्षिण अफ्रीका सीरीज में क्लीन स्वीप करना चाहती है तो दूसरी ओर मेहमान टीम भारत सीरीज में एक मैच जीतकर अपनी लाज बचाना चाहता है.

सूत्रों की माने तो भारत ने अपनी दो टेस्ट मैचों की हार का ठीकरा विकेटकीपर पर तोड़ा है क्योंकि तीसरे टेस्ट मैच से पहले बीसीसीआई ने विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना किया है और टीम इंडिया में विकेटकीपर की देखें तो पहले मैच में रिद्धिमान साहा ने अच्छी विकेटकीपिंग की थी और एक मैच में 10 कैच लेकर कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी को पीछे छोड़ दिया था पर उनकी बल्लेबाजी ने टीम मैनेजमेंट को खासा निराश किया है

साथ ही दूसरे टेस्ट मैच की बात करें तो उस मैच में रिद्धिमान साहा के चोटिल होने के कारण पार्थिव पटेल को विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर टीम में जगह दी गई लेकिन दूसरे टेस्ट मैच में पार्थिव पटेल की विकेट कीपिंग बहुत ही निराशाजनक रही और बल्लेबाजी में भी उन्होंने कुछ खास नहीं किया शायद यही कारण रहा हो कि टीम मैनेजमेंट ने हार का ठीकरा विकेटकीपर-बल्लेबाज पर तोड़ी है

अब तीसरे टेस्ट मैच में अगर दिनेश कार्तिक को जगह मिलती है तो इतना तो साफ है कि रिद्धिमान साहा और पार्थिव पटेल से दिनेश कार्तिक की बल्लेबाजी काफी अच्छी है और विकेटकीपिंग भी अच्छी है पर सोचने वाली बात यह है कि दिनेश कार्तिक अपना आखिरी टेस्ट मैच 2010 में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था जो कि काफी लंबे अंतराल है एक बात और है कि अगर दिनेश कार्तिक को इस मैच में खिलाया गया तो यह एक अनोखा रिकॉर्ड हो जाएगा एक सीरीज में तीन टेस्ट मैचों में किसी टीम ने तीन अलग-अलग विकेटकीपर टीम में शामिल किए हैं.

टेस्ट मैचों से कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास लेने के बाद भारतीय टीम में यह समस्या बढ़ गई है उनकी जगह पर अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज अब तक नहीं मिल पाए हैं अगर कोई विकेटकीपर की जगह पर है अच्छी विकेटकीपिंग करता है और बल्लेबाजी से निराश करता है तो उसे भी परिपूर्ण नहीं मान सकते हैं क्योंकि धोनी को देखा गया है कि अच्छी विकेटकीपिंग के साथ कई मैचों में उन्होंने अपने बल्लेबाजी के बदौलत टीम को शानदार जीत दिलाई है.

Sachin Tendulkar India

मंकीगेट प्रकरण में माइक प्रोक्टर ने सचिन तेंदुलकर पर लगाए आरोप

Ellyse Perry

किसी हॉलीवुड हीरोइन से कम नही है ये महिला क्रिकेटर