अंपायर बनने से पहले असद रऊफ ने पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट में कई रिकॉर्ड्स किए थे अपने नाम - क्रिकट्रैकर हिंदी

अंपायर बनने से पहले असद रऊफ ने पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट में कई रिकॉर्ड्स किए थे अपने नाम

ICC के एलीट पैनल का हिस्सा रह चुके पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ का गुरूवार (15 सितंबर) को 66 वर्ष की उम्र में लाहौर में निधन हो गया।

asad rauf (pic source-twitter)
asad rauf (pic source-twitter)

ICC के एलीट पैनल का हिस्सा रह चुके पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ का गुरूवार (15 सितंबर) को 66 वर्ष की उम्र में लाहौर में निधन हो गया। असद रऊफ के आकस्मिक निधन से हर कोई स्तब्ध है। बता दें, उनका निधन कार्डियक अरेस्ट की वजह से हुआ है।

पाकिस्तान के रहने वाले असद रऊफ दुनिया के सबसे प्रमुख अंपायरों में से एक थे। उन्होंने 64 टेस्ट (49 ऑन-फील्ड और 15 टीवी अंपायर के रूप में), 139 एकदिवसीय और 28 टी-20 मुकाबलों में अंपायरिंग की है।

लाहौर के इस अंपायर ने 1998 में पहली बार प्रथम श्रेणी मुकाबले में अंपायरिंग की थी। दो साल बाद, उन्हें पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच गुजरांवाला, पाकिस्तान में खेले गए वनडे मुकाबले में अंपायरिंग करने की जिम्मेदारी मिली। ICC ने रऊफ को 2005 में उनके पहले टेस्ट असाइनमेंट के लिए नियुक्त किया और एक साल बाद उन्हें अप्रैल 2006 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के एलीट पैनल में शामिल किया गया था।

अंपायर बनने से पहले असद रऊफ एक जबरदस्त क्रिकेटर भी थे

असद रऊफ एक शानदार एंपायर ही नहीं बल्कि एक जबरदस्त क्रिकेटर भी थे। उनका घरेलू करियर एक दशक से अधिक समय तक रहा था। उन्होंने 1977 से 1991 के बीच पाकिस्तानी घरेलू क्रिकेट में पाकिस्तान विश्वविद्यालयों, लाहौर, नेशनल बैंक ऑफ पाकिस्तान और पाकिस्तान रेलवे का प्रतिनिधित्व किया था।

71 फर्स्ट क्लास मुकाबलों में रऊफ ने 3423 रन बनाए हैं जिसमें 3 शतक और 22 अर्धशतक शामिल हैं। उन्होंने 1986-87 में अपने सबसे शानदार सत्र का आनंद लिया जब उन्होंने 35.36 के औसत से 672 रन बनाए, जिसमें 5 अर्धशतक और 1 शतक भी शामिल था।

असद रऊफ का अंपायरिंग करियर 2013 में प्रभावित हुआ। IPL में पाकिस्तानी खिलाड़ियों के खेलने पर बैन लगा दिया था, मगर असद अंपायरिंग करते रहे। 2013 में असद पर IPL में स्पॉट फिक्सिंग का मामला दर्ज हुआ था। इसके बाद असद को IPL बीच में ही छोड़कर जाना पड़ा, साथ ही उन्हें उसी साल चैम्पियंस ट्रॉफी से भी हटाया गया और ICC के इंटरनेशनल अंपायरिंग पैनल से भी ड्रॉप कर दिया गया था। संन्यास लेने के बाद असद रऊफ ने लाहौर में सेकंड हैंड कपड़ों की दुकान शुरू की थी।