प्रशंसक ने इरफान पठान के अंतरराष्ट्रीय करियर को समाप्त करने के लिए एमएस धोनी को ठहराया दोषी, पूर्व भारतीय ऑलराउंडर ने दिया करारा जवाब - क्रिकट्रैकर हिंदी

प्रशंसक ने इरफान पठान के अंतरराष्ट्रीय करियर को समाप्त करने के लिए एमएस धोनी को ठहराया दोषी, पूर्व भारतीय ऑलराउंडर ने दिया करारा जवाब

इरफान पठान ने तीनों ही प्रारूपों को मिलाकर 301 विकेट अपने नाम किए हैं और बल्लेबाजी में कुल 12 अर्धशतक (सभी प्रारूपों को मिलाकर) और 1 शतक टेस्ट में जड़ा है।

Irfan Pathan. (Photo Source: Facebook)
Irfan Pathan. (Photo Source: Facebook)

टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने एक फैन को करारा जवाब दिया, जिसने पठान को उनके खेल के दिनों में भारतीय टीम से बाहर करने के लिए पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी को दोषी ठहराया था।

इस समय इरफान पठान लीजेंड्स लीग क्रिकेट (LLC) के दूसरे सत्र में भीलवाड़ा किंग्स टीम से खेल रहे हैं। वो इस टीम के कप्तान हैं और उन्होंने अभी तक सिर्फ गेंदबाजी से ही नहीं बल्कि बल्लेबाजी से भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। इसी के साथ एक प्रशंसक ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस ऑलराउंडर को 29 साल की उम्र के बाद भारत के लिए खेलते हुए नहीं देखने पर निराशा व्यक्त की है।

प्रशंसक ने ट्वीट किया: यकीन नहीं हो रहा है कि इरफान पठान ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मुकाबला 29 साल की उम्र में खेला था

एक प्रशंसक ने ट्वीट किया कि, ‘जब भी मैं इरफान पठान को इन जैसी लीग्स में खेलते हुए देखता हूं तो महेंद्र सिंह धोनी और उनके मैनेजमेंट को दोष देता हूं। मुझे अभी भी यकीन नहीं हो रहा है कि इस खिलाड़ी ने 29 साल की उम्र में अपना आखिरी लिमिटेड ओवर्स अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। वो नंबर 7 के लिए सबसे बेहतरीन खिलाड़ी थे और उनको अपनी टीम में हर कोई शामिल करना चाहता था, लेकिन भारतीय टीम ने रवींद्र जडेजा और स्टुअर्ट बिन्नी को खिलाया।’

इस ट्वीट का जवाब देते हुए इरफान पठान ने लिखा कि, ‘किसी को दोष देने की जरूरत नहीं है। अपना प्यार देने के लिए शुक्रिया।’

बता दें, इरफान पठान को भारत के बेहतरीन ऑलराउंडरों में गिना जाता था। उन्होंने अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू 19 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2003 में किया था और पठान ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मुकाबला टी-20 वर्ल्ड कप 2012 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था।

इरफान पठान ने भारत के लिए 29 टेस्ट, 24 टी-20 और 120 वनडे मुकाबले खेले हैं। टी-20 वर्ल्ड कप 2007 में पठान ने भारतीय टीम की जीत में अहम योगदान दिया था। उन्होंने तीनों ही प्रारूपों को मिलाकर 301 विकेट अपने नाम किए हैं और बल्लेबाजी में कुल 12 अर्धशतक (सभी प्रारूपों को मिलाकर) और 1 शतक टेस्ट में जड़ा है।