'मुझे हरमनप्रीत या मंधाना बनने की जरूरत नहीं'- बारबाडोस के खिलाफ मैच के बाद बोली जेमिमा रोड्रिग्स - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘मुझे हरमनप्रीत या मंधाना बनने की जरूरत नहीं’- बारबाडोस के खिलाफ मैच के बाद बोली जेमिमा रोड्रिग्स

बारबाडोस के खिलाफ मैच में जेमिमा रोड्रिग्स ने की थी शानदार बल्लेबाजी।

Jemimah Rodrigues (Photo Source: Twitter)
Jemimah Rodrigues (Photo Source: Twitter)

भारत की स्टार बल्लेबाज जेमिमा रोड्रिग्स को इस साल की शुरुआत में खेले गए महिला वर्ल्ड कप में खेलने का मौका नहीं मिला था। उसके बाद आलोचकों को चुप कराने के लिए उन्हें अपनी क्षमता साबित करनी पड़ी। कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में बारबाडोस के खिलाफ, दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 46 गेंदों में 56 रनों की पारी खेली और इस पारी से उन्होंने यह साबित किया कि उन्हें विश्व कप के लिए नहीं चुनकर टीम मैनेजमेंट ने बड़ी गलती की।

उनके शानदार प्रदर्शन के कारण, भारत ने बारबाडोस की महिलाओं को 100 रनों से हराकर CWG 2022 के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया। टीम से बाहर होने के बावजूद, जेमिमा ने अपनी खेल शैली में कोई बदलाव नहीं किया। शैफाली वर्मा, हरमनप्रीत कौर, या स्मृति मंधाना जैसे खिलाड़ी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। ऐसे में टीम को जेमिमा जैसे खिलाड़ियों की जरुरत है जो बीच में आकर धैर्य के साथ खेल सकें।

मुझे मंधाना या हरमनप्रीत बनने की जरूरत नहीं है- जेमिमा रोड्रिग्स

इस बीच बारबाडोस के खिलाफ मैच के बाद जेमिमा ने अपनी बल्लेबाजी को लेकर कहा कि, “स्मृति (मंधाना) ने 2019 में आईपीएल (महिला टी20 चैलेंज) के दौरान कहा था कि हरमनप्रीत कौर या स्मृति मंधाना बनने की कोशिश मत करना तुम जेमिमा रोड्रिग्स हो। मुझे लगता है कि मैंने वह भूमिका समझी और इससे मुझे काफी मदद मिल रही है।”

उन्होंने आगे कहा कि, “टीम ने मुझे एक भूमिका सौंपी है। अगर मैं वह भूमिका निभा सकती हूं तो फिर यह मायने नहीं रखता के लोग इस बारे में क्या सोचते हैं। यदि इससे टीम को फायदा होता है तो फिर हमारे पास शेफाली, स्मृति और हरमन है और इसलिए मैं केवल वह भूमिका सर्वश्रेष्ठ तरीके से निभाना चाहती हूं जो मैं टीम के लिए निभा सकती हूं।’’

जेमिमा ने स्वीकार किया कि वह ‘पावर हिटर’ नहीं है लेकिन खेल के सबसे छोटे प्रारूप में अधिक योगदान देने के लिए इस विशेष कौशल पर ध्यान दे रही हैं। उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर मैं अपने पावर गेम पर काम कर रही हूं लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण यह है कि मैंने अपने खेल को समझ लिया है। मैं पावर हिटर नहीं हूं लेकिन मैं एक या दो रन लेने के लिए अच्छी तरह से शॉट खेल सकती हूं। मैं जानती हूं कि रन कैसे बनाने हैं। मुझे लगता है यह मेरा मजबूत पक्ष है।’’