कराची और लाहौर के स्टेडियम में लगाई जाएंगी ड्रॉप-इन पिच, 37 करोड़ रुपये खर्च करेगा PCB - क्रिकट्रैकर हिंदी

कराची और लाहौर के स्टेडियम में लगाई जाएंगी ड्रॉप-इन पिच, 37 करोड़ रुपये खर्च करेगा PCB

PCB अध्यक्ष बनने के बाद रमीज राजा देश में क्रिकेट के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

Cricket Ground. (Photo Source: Twitter/BCCI)
Cricket Ground. (Photo Source: Twitter/BCCI)

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) घरेलू क्रिकेट का स्तर सुधारने की दिशा में लगातार तेजी से काम कर रहा है। इसी कड़ी में PCB अध्यक्ष रमीज राजा ने कहा है कि कराची और लाहौर के स्टेडियम में ड्रॉप-इन पिच लगाई जाएंगी। एशियाई देशों की पिचों पर खिलाड़ियों को अधिक गति और उछाल नहीं मिल पाती है।

इसी वजह से यहां के बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में तेज और उछाल भरी गेंदों के सामने संघर्ष करते हुए नजर आते हैं। PCB ने पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) 2021 के खिलाड़ियों के ड्राफ्ट के दौरान इस संबंध में आरिफ हबीब समूह के साथ एक ग्रुप से एमओयू भी साइन कर लिया है। इसके तहत दोनों पिच को बिछाने में करीब 37 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा।

इस बीच, कराची के नया नाजिमाबाद क्रिकेट स्टेडियम में एक ड्रॉप-इन पिच पर लगाया जाना है, जबकि अन्य स्थान की घोषणा बाद में की जाएगी। इन पिचों को स्थापित करने की प्रक्रिया 2022 में पूरी होने की उम्मीद है। एक बार प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद, PCB स्टेडियम में घरेलू और जूनियर स्तर के मैचों का आयोजन कर सकता है।

ड्रॉप-इन पिचों को लेकर रमीज राजा ने क्या कहा ?

पीसीबी चेयरमैन रमीज राजा ने क्रिकेट पाकिस्तान के हवाले से कहा कि, “ड्रॉप-इन पिच की स्थापना से घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों स्तर पर हमारे खिलाड़ियों को फायदा होने वाला है। पिछले कुछ वर्षों में, हमने ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की पिचों पर अतिरिक्त उछाल और गति का सामना करने के लिए संघर्ष किया है।”

उन्होंने आगे कहा, “कई प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के टीम में होने के बावजूद पाकिस्तान टीम अब तक ऑस्ट्रेलिया में सीरीज नहीं जीत पाई है। इसलिए, तेज गेंदबाजी के अनुकुल पिच विदेशी दौरे की तैयारी के लिहाज से खिलाड़ियों की मदद करेंगी। राजा ने कहा कि प्रतिभा और क्षमता के बावजूद, हम अभी तक ऑस्ट्रेलिया में एक टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाए हैं। जबकि न्यूजीलैंड में भी हमारा हालिया रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है। हमें वहां भी हार का सामना करना पड़ा है।”