ईसीबी और वारविकशायर ने नस्लीय दुर्व्यवहार करने वाले फैंस पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का किया ऐलान - क्रिकट्रैकर हिंदी

ईसीबी और वारविकशायर ने नस्लीय दुर्व्यवहार करने वाले फैंस पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का किया ऐलान

पुलिस को स्टेडियम की सीसीटीवी तस्वीरें सौंप दी गई है।

Edgbaston Stadium. (Photo Source: Twitter)
Edgbaston Stadium. (Photo Source: Twitter)

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) और वारविकशायर ने नस्लवाद के दोषी पाए जाने वाले टिकट धारकों पर आजीवन प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। एजबेस्टन में इंग्लैंड और भारत के बीच खेले गए पुनर्निर्धारित टेस्ट के चौथे दिन भारतीय प्रशंसकों पर नस्लवादी हमले के आरोपों के बाद ईसीबी (ECB) और वारविकशायर ने यह निर्णय लिया।

आपको बता दें, एजबेस्टन स्टेडियम में भारतीय क्रिकेट टीम के समर्थन में खड़े प्रशंसकों के एक समूह को इंग्लैंड के प्रशंसकों से नस्लवादी दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा था, जिसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया पर साझा की थी। इस मामले के बाद वारविकशायर काउंटी क्रिकेट क्लब और ईसीबी (ECB) ने नस्लवाद के दोषी पाए जाने वाले टिकट धारकों पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का ऐलान कर दिया है।

भारतीय प्रशंसकों पर नस्लवादी हमला करना इंग्लैंड के फैंस को पड़ा भारी

इस बीच, वारविकशायर के मुख्य कार्यकारी स्टुअर्ट कैन ने एजबेस्टन में भारतीय फैंस पर हुए नस्लवादी हमले पर खेद व्यक्त किया और माफी मांगी। उन्होंने आगे नस्लवाद के दोषी पाए जाने वाले लोगों पर आजीवन प्रतिबंध लगाने और एजबेस्टन घटना की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों को पूरा सहयोग देने का वादा किया है।

स्टुअर्ट कैन ने द क्रिकेटर के हवाले से कहा: “मैं इस बात से सबसे ज्यादा तकलीफ में हूं कि लोग सोचते हैं कि वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों के दौरान लोगों पर नस्लवादी टिप्पणीयां कर सकते है। मुझे यह सोच कर भी बहुत गुस्सा आता है। मैंने उन लोगों से बात की है, जिन्होंने सोशल मीडिया पर इस मुद्दे को उठाया है, और साथ ही एरिक हॉलीज स्टैंड का प्रबंधन करने वाले स्टीवर्ड्स और पुलिस से भी बात की है।

हम दुर्व्यवहार के कथित मामलों में पुलिस का पूरा साथ दे रहे हैं। हमने पुलिस को सीसीटीवी तस्वीरें और अन्य जानकारी भी प्रदान कर दी है, जिसके चलते उन्होंने एक आपराधिक जांच शुरू की है। पुलिस ने लोगों से 101 पर कॉल करने और इस मुद्दे को लेकर कोई जानकारी होने पर 20-613293-22 पर साझा करने के लिए कहा है। यदि पुलिस जांच मुकदमें की ओर जाती है, तो हम एजबेस्टन में नस्लवादी हमले में शामिल होने वाले लोगों पर प्रतिबंध लगा देंगे और साथ ही ईसीबी उन्हें देश भर के अन्य सभी क्रिकेट स्थलों में प्रवेश से भी प्रतिबंधित कर देगा।”