जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को प्लेयर-कम-कोच की दोहरी भूमिका सौंप सकता है ईसीबी - क्रिकट्रैकर हिंदी

जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को प्लेयर-कम-कोच की दोहरी भूमिका सौंप सकता है ईसीबी

ब्रेंडन मैकुलम इंग्लैंड की टेस्ट टीम के सहयोगी स्टाफ को सुव्यवस्थित करना चाहते हैं।

James Anderson & Stuart Broad
James Anderson & Stuart Broad. (Photo Source: Twitter)

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) कथित तौर पर जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को प्लेयर-कम-कोच की भूमिका सौंपने की योजना बना रहा है। जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड  इंग्लैंड के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज हैं, और दुनिया में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले सक्रिय तेज गेंदबाज भी हैं।

डेली मेल की एक रिपोर्ट के अनुसार, जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड के दशकों के अनुभव को देखते हुए इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) दोनों तेज गेंदबाजी दिग्गजों को एक नई भूमिका देने की संभावनाओं पर विचार-विमर्श कर रहा है, जबकि वे साथ ही ड्रेसिंग रूम कर्मचारियों की संख्या में भी कटौती करने की योजना बना रहे है।

जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड जल्द नजर आ सकते हैं दोहरी भूमिका में

डेली मेल की रिपोर्ट में कहा गया है कि इंग्लैंड की टेस्ट टीम के मुख्य कोच ब्रेंडन मैकुलम टीम के सहयोगी स्टाफ को सुव्यवस्थित करना चाहते हैं, और जॉन लुईस के ईसीबी (ECB) में लौटने के बाद, वह अनुभवी तेज गेंदबाजों की विशेषज्ञता का उपयोग करना चाहते हैं। जिसका मतलब है कि एंडरसन और ब्रॉड इंग्लैंड के लिए खेलते हुए अपने आने वाले तेज गेंदबाजों को प्रशिक्षित करेंगे।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को अगले साल फरवरी में न्यूजीलैंड के दौरे पर दोहरी भूमिका में देखा जा सकता है, क्योंकि यह दो मैच की टेस्ट सीरीज फ्यूचर टूर्स प्रोग्राम (FTP) का हिस्सा नहीं है। चूंकि इस दौरे पर वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) अंक दांव पर नहीं होंगे, इसलिए ईसीबी (ECB) अपने अनुभवी तेज गेंदबाजों को बदल-बदल के दोहरी भूमिका सौंप सकता है, जैसे अगर एंडरसन खेल रहे होंगे, तो ब्रॉड नेट अभ्यास सत्र में गेंदबाजों की निगरानी कर सकते है।

पॉल कॉलिंगवुड, मार्कस ट्रेस्कोथिक और जीतन पटेल कथित तौर पर इंग्लैंड की टेस्ट टीम के सहायक के रूप में बने रहेंगे, जबकि कप्तान बेन स्टोक्स भी जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को दोहरी भूमिका सौपें जाने के पक्ष में हैं।