मेलबर्न टेस्ट से पहले इंग्लैंड के कोच ने लगाई खिलाड़ियों की क्लास, विकेट गिरने का चलाया रिप्ले - क्रिकट्रैकर हिंदी

मेलबर्न टेस्ट से पहले इंग्लैंड के कोच ने लगाई खिलाड़ियों की क्लास, विकेट गिरने का चलाया रिप्ले

पांच मैचों की एशेज सीरीज में इंग्लैंड फिलहाल 2-0 से पीछे चल रही है।

England team
England team. (Photo by Stu Forster/Getty Images)

एडिलेड टेस्ट मैच में इंग्लैंड की टीम को 275 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा। हार के बाद हुई टीम की बैठक के दौरान सभी खिलाड़ियों को अपने आउट होने के तरीके को फिर से देखने के लिए कहा गया। इंग्लैंड के बल्लेबाज दूसरे टेस्ट को चौथी पारी में 192 रनों ही बना पाए थे और ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के खिलाफ वो बिल्कुल बेबस नजर आए।

अपने कप्तान जो रूट और तीसरे नंबर के बल्लेबाज डेविड मलान को छोड़कर, कोई भी खिलाड़ी अब तक सीरीज में बड़ा स्कोर नहीं बना पाया है। इस प्रकार, द गार्जियन की एक रिपोर्ट के अनुसार, इंग्लिश कोच क्रिस सिल्वरवुड ने अपने ड्रेसिंग रूम के टीवी स्क्रीन पर 20 में से 14 विकेट का रिप्ले चलाया। साथ ही उन्होंने बल्लेबाजों की खामियों को भी उजागर किया।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि उनके स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स बैठक में स्पष्ट रूप से एक मजबूत आवाज के साथ दिखे। जबकि विकेटकीपर जॉस बटलर, जिन्होंने दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में 207 गेंदों में 26 रनों की पारी खेली, उन्होंने भी आवाज उठाई। 31 वर्षीय बटलर ने अनुशासन पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता पर बात की।

मार्क वुड ने बताया दो हार के बाद कैसा है ड्रेसिंग रूम का माहौल

बटलर ने अनुशासन की आवश्यकता पर बात करने के लिए मार्नस लाबुशाने का भी उदहारण दिया। इस बीच, इंग्लिश तेज गेंदबाज मार्क वुड ने भी टीम मीटिंग के बारे में बताया। उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि वही गलतियां होती रहीं। The Guardian के हवाले से मार्क वुड ने कहा कि, “हम स्पष्ट रूप से खेल की समीक्षा करते हैं, जिन चीजों को हम बेहतर कर सकते हैं, जिन चीजों को हमने अच्छा किया है सभी बातों को लेकर हमने समीक्षा की है।

मार्क वुड ने ड्रेसिंग रूम के माहौल के बारे में बात करते हुए कहा कि, “अगर मैं पूरी तरह से ईमानदार हूं, तो ड्रेसिंग रूम में यह महसूस नहीं होता है कि यह बल्लेबाज बनाम गेंदबाज की बात है। ऐसा नहीं है कि एक कोने में सभी बल्लेबाज गेंदबाजों के बारे में और दूसरे कोने में सभी गेंदबाज बल्लेबाजों के बारे में बात कर रहे हैं। ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।”