बचपन के कोच राजकुमार शर्मा का दावा, विराट कोहली का फिर दिखेगा बल्ले से पुराना रूप - क्रिकट्रैकर हिंदी

बचपन के कोच राजकुमार शर्मा का दावा, विराट कोहली का फिर दिखेगा बल्ले से पुराना रूप

2018 के पिछले दक्षिण अफ्रीका दौरे पर विराट कोहली ने सर्वाधिक टेस्ट रन बनाए थे।

Virat Kohli. (Photo Source: BCCI)
Virat Kohli. (Photo Source: BCCI)

भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली का बल्ला इस साल क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में शांत रहा है। साथ ही पिछले कुछ सप्ताह से वे कप्तानी को लेकर विवादों में भी रहे हैं। पिछले दो साल से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वे शतक भी नहीं बना पाए हैं जिससे उनकी फॉर्म पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। इस बीच कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा ने दावा किया है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी सीरीज में विराट का बल्ले से पुराना रूप देखने को मिलेगा।

इस बार फैंस को विराट कोहली पुराने रंग में दिखेंगे- राजकुमार शर्मा

विराट कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा ने एनडीटीवी के साथ बातचीत में कहा, “पिछली बार विराट ने सेंचुरियन में बेहतरीन पारी खेली थी और मुझे उम्मीद है कि वे फिर से ऐसा करेंगे। उनके सभी प्रशंसक दोबारा कोहली को पहले जैसा खेलता हुआ देखना चाहते हैं। विराट एक परिपक्व इंसान हैं और लंबे समय से कप्तानी करते आ रहे हैं। इस बार फैंस को असली विराट कोहली वापस फॉर्म में देखने को मिलेंगे।”

गौरतलब है कि 33 वर्षीय कोहली ने पिछले दक्षिण अफ्रीका दौरे पर दोनों टीम की तरफ से टेस्ट सीरीज में सर्वाधिक रन बनाए थे। यही नहीं, उन्होंने सेंचुरियन में खेले गए टेस्ट में पहली पारी में शानदार 153 रन बनाए थे लेकिन फिर भी टीम इंडिया यह मैच 135 रनों से हार गई थी। भले ही विराट के बल्ले से पिछले दो साल से शतक नहीं आया है, लेकिन इस दौरान उन्होंने कई अर्धशतकीय पारियां खेली हैं।

सेंचुरियन टेस्ट के लिए भारतीय शुरुआती एकादश चुनना होगा कठिन- राजकुमार

शर्मा का यह भी मानना है कि सेंचुरियन टेस्ट के लिए अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा और श्रेयस अय्यर में से किसी एक को चुनना टीम इंडिया के लिए आसान काम नहीं होगा। उन्होंने कहा, “भारतीय टीम के लिए यह एक मुश्किल काम होगा कि इन तीन में से किसे प्लेइंग इलेवन में चुना जाए। न्यूजीलैंड के खिलाफ अय्यर ने शानदार शतक जड़ा था और टीम में अपनी जगह का दावा ठोका था, जिससे सीनियर खिलाड़ियों पर दबाव बढ़ेगा।”

जहां एक तरफ श्रेयस अय्यर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट में ही शतक मार दिया था और प्लेयर ऑफ द मैच भी बने थे। वहीं, अजिंक्य रहाणे पिछले 12 महीने से अपनी खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं, साथ ही अब उनके हाथ से टेस्ट टीम की उपकप्तानी भी चली गई है। वहीं, नंबर 3 पर खेलने वाले चेतेश्वर पुजारा का आखिरी टेस्ट शतक 2017 में आया था और वे भी उतार-चढ़ाव से गुजर रहे हैं।