हरभजन सिंह को फ्रांस की यूनिवर्सिटी से मिला खास पुरस्कार - क्रिकट्रैकर हिंदी

हरभजन सिंह को फ्रांस की यूनिवर्सिटी से मिला खास पुरस्कार

हरभजन सिंह फिलहाल यूएई में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम के साथ जुड़े हुए हैं।

Harbhajan Singh
Harbhajan Singh. (Photo Source: IPL/BCCI)

फ्रांस की यूनिवर्सिटी इकोल सुपीरियेयूरे रोबर्ट डि सोर्बोन ने एक दीक्षांत समारोह के दौरान भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह को खेलों में पीएचडी की डिग्री प्रदान की है। 41 वर्षीय हरभजन इस समारोह में शामिल नहीं हो सके क्योंकि वह इस समय यूएई में खेले जा रहे आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के बायो-बबल में हैं।

यूएई में खेले जा रहे आईपीएल के दूसरे फेज में हरभजन को खेलने का मौका नहीं मिला है। टीम मैनेजमेंट ने उनसे पहले शाकिब अल हसन, वरुण चक्रवर्ती और सुनील नारायण को मौका दिया। जहां तक उनके डिग्री का सवाल है तो यह यूनिवर्सिटी विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिष्ठित व्यक्तियों को मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्रदान करती है, जिसमें खेल के क्षेत्र की उपलब्धियां भी शामिल हैं।

पीएचडी की डिग्री मिलने के बाद हरभजन सिंह ने क्या कहा?

इस उपाधि से सम्मानित होने के बाद हरभजन सिंह काफी गौरवांवित महसूस कर रहे हैं। Cricket.com से बातचीत करते हुए भज्जी ने कहा कि “अगर कोई संस्था सम्मान देती है तो आप उसे बहुत विनम्रता से स्वीकार करते हो। अगर मुझे यूनिवर्सिटी ने मानद खेल डॉक्टरेट डिग्री से सम्मानित किया गया है और ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि मैं क्रिकेट खेलता हूं और लोगों ने इसके लिए अपना प्यार और स्नेह दिया है। इस डिग्री के मिलने से मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं।”

इंडियन फेडरेशन ऑफ यूनाइटेड नेशंस एसोसिएशन (IFUNA) के उपाध्यक्ष डॉ. हरचरण सिंह रनौता ने विश्वविद्यालय को हरभजन के नाम की सिफारिश की। हरभजन ने जूरी का भी आभार व्यक्त किया जिसने उन्हें चुना और कहा, “मैं डॉ. जॉन थॉमस परेड, अध्यक्ष सोरबन, डॉ विवेक चौधरी, अध्यक्ष, सोरबन इंटरनेशनल दीक्षांत समारोह समिति (सेलिब्रिटी), डॉ मुकेश त्यागी, सोरबन इंटरनेशनल दीक्षांत समारोह समिति को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे सम्मान के लिए योग्य समझा।”

बतौर स्पिन गेंदबाज हरभजन का करियर

भारत के टर्बनेटर कहे जाने वाले हरभजन टीम इंडिया के सबसे सफल स्पिन गेंदबाजों में से एक हैं। भारत के लिए 103 टेस्ट मैच खेल चुके भज्जी इस फॉर्मेट में 417 विकेट झटक चुके हैं। वहीं, अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में उन्होंने कुल 711 विकेट अपने नाम किया है, जिसमें उनके नाम 28 बार पारी में 5 विकेट और 10 बार दस विकेट दर्ज हैं। 2001 में हरभजन टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बने थे।