गौतम की फिसली जुबान, फिर कर दी विराट के 'गंभीर' व्यवहार की बात - क्रिकट्रैकर हिंदी

गौतम की फिसली जुबान, फिर कर दी विराट के ‘गंभीर’ व्यवहार की बात

साउथ अफ्रीकी गेंदबाजों के सामने डटकर खेलते रहे कप्तान विराट कोहली 203 गेंदो पर 79 रन बनाए।

Gautam Gambhir and Virat Kohli. (Photo Source: Getty Images)
Gautam Gambhir and Virat Kohli. (Photo Source: Getty Images)

भारतीय टीम तथा भारतीय खिलाड़ियों पर अक्सर अपनी राय व्यक्त करने वाले, पूर्व भारतीय ओपनिंग बल्लेबाज गौतम गंभीर एक बार फिर कप्तान विराट कोहली पर दिये अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में विराट कोहली ने 203 गेदों पर 79 रनों की संयमित पारी खेली जिसके चलते भारतीय टीम 223 के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रहीं।

गौतम गंभीर ने अपने बयान में कहा कि विराट कोहली तीसरे ने टेस्ट मैच की पहली पारी में जिस तरह का खेल दिखाया उसे देखकर लगता है कि वह अपना ईगो ड्रेसिंग रूम में छोड़कर आए थे। गौतम गंभीर ने कहा कि विराट कोहली का इस प्रकार का रवैया उन्हें 2018 के इंग्लैंड दौरे की याद दिलाता हैं। जहां विराट कोहली के इसी अंदाज ने उन्हें सफलता दिलाई थी।

स्टार स्पोर्ट्स पर बात करते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि विराट कोहली अक्सर कहते हैं कि यदि हमें इंग्लैंड में बेहतर प्रदर्शन करना है तो अपने ईगो को साइड मे रखना पड़ता है। विराट कोहली ने तीसरे टेस्ट मैच में भी कुछ इसी प्रकार का संयम दर्शाया। इससे पहले साल 2018 के इंग्लैंड दौरे पर भी उनको कई बार उकसाया गया था लेकिन वह शांत बने रहें और वह उनके लिए एक कामयाब दौरा रहा था।

कठिन समय संयम के साथ खेलते रहे विराट कोहली – गौतम गंभीर

गंभीर ने आगे कहा कि विराट कोहली ने शानदार तरीके से ऑफ स्टंप के बाहर की गेंदों को छोड़ा। उन्होनें पूरी पारी के दौरान गेंदबाजों पर हावी होने की कोशिश नहीं की। वहीं पूरे समय शांत ढंग से क्रीज पर डटे रहे। जो कि भारतीय टीम के लिए फायदेमंद साबित हुआ।

हालांकि अपनी संतुलित पारी के बाद भी विराट कोहली शतक तक नहीं पहुंच सके। और विराट कोहली के शतक का इंतजार कर रहे उनके फैंस को एक बार फिर निराशा हाथ लगी। बता दें कि यह विराट कोहली के करियर का यह 99वां टेस्ट मैच हैं। उनके पिछले शतक को 2 साल से अधिक का समय बीत चुका हैं।

विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा के अलावा तीसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में कोई अन्य भारतीय खिलाड़ी दक्षिण अफ्रीकी आक्रमण का सामना नहीं कर सका। ऋषभ पंत ने जरूर कुछ समय के लिए विराट कोहली के साथ डटे रहे लेकिन वह जल्दी ही पवेलियन लौट गए। दक्षिण अफ्रीका के लिए कगिसो रबाडा ने चार विकेट लिए।