गौतम गंभीर अब केएल राहुल को लेकर ज्ञान देने में लगे हुए हैं - क्रिकट्रैकर हिंदी

गौतम गंभीर अब केएल राहुल को लेकर ज्ञान देने में लगे हुए हैं

ऋषभ पंत का अब तक दोनों मैचों में प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। तीसरे मैच की पहली पारी में भी वह मात्र 27 रन ही बना सके है।

Gautam Gambhir and KL Rahul
Gautam Gambhir and KL Rahul. (Photo Source: Twitter)

लगातार खराब फार्म से जूझ रहे ऋषभ पंत की टीम में जगह को लेकर सवाल उठ रहें हैं। वह लंबे समय से टेस्ट क्रिकेट में बड़ा स्कोर नहीं बना सके हैं। तीसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में पंत मात्र 26 रन ही बना सके थे। इससे पिछले मैच में भी गलत शॉट खेलकर आउट होने के कारण उन्हें कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी थी। जिसके चलते अब केएल राहुल के बतौर विकेटकीपर खिलाने को लेकर चर्चा शुरू हो गई है।

अक्सर ऋषभ पंत का गलत शॉट सिलेक्शन उन पर कई सवाल खड़े करता है। उन्होनें कई मौकों पर, जब टीम कठिन परिस्थिति में थी आक्रामक शॉट खेलकर अपना विकेट गंवा दिया है। ऐसा वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल तथा इंग्लैंड दौरे पर कई बार देखने को मिला था। पिछले साल गाबा टेस्ट में उनके द्वारा खेली गई शानदार पारी के बाद से उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है।

अब ऋषभ पंत के खराब प्रदर्शन के बाद टीम में उनकी जगह पर भी संकट नजर आ रहा है। ऐसे में केएल राहुल को बतौर विकेटकीपर खिलाने की चर्चा भी शुरू हो गई। दरअसल स्टार स्पोर्ट्स पर ऋषभ पंत के खराब प्रदर्शन को लेकर चर्चा चल रही थी। इसी बीच एक फैन ने केएल राहुल को बतौर विकेटकीपर खिलाने की सलाह दे डाली।

एक विकेटकीपर टेस्ट में कभी एक अच्छा ओपनर नहीं बन सकता – गौतम गंभीर

केएल को बतौर विकेटकीपर प्लेइंग इलेवन में शामिल करने की बात को गौतम गंभीर ने सिरे से खारिज कर दिया। उन्होनें कहा कि केएल राहुल भी बतौर टेस्ट ओपनर विकेटकीपिंग करना कभी स्वीकार नहीं करेंगे। उन्होंने टेस्ट मैचों विकेटकीपिंग की मुश्किलों पर बात करते हुए कहा कि केएल राहुल लंबे फॉर्मेट के लिए विकेटकीपिंग के बेहतर विकल्प नहीं बन सकते हैं।

उन्होनें कहा कि टेस्ट मैच में लगभग 150 ओवरों तक विकेटकीपिंग करके किसी भी ओपनर के लिए पहली गेंद खेलना बेहद कठिन काम है। वनडे और टी-20 में इस विकल्प को अपनाया जा सकता है लेकिन टेस्ट मैच के लिए आपको एक विशेषज्ञ विकेटकीपर की आवश्यकता होती है।

गौतम गंभीर ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में विकेटकीपर एक अच्छा ओपनर नहीं हो सकता है। यदि आपके पास ओपनर नहीं है तो इस विकल्प को अपनाया जा सकता है लेकिन यह लंबे समय के लिए उपयोगी नहीं हैं।

वहीं केएल राहुल की बात करें तो उनके दक्षिण अफ्रीका का दौरा अब तक ठीक-ठाक रहा है। उन्होनें पहले मैच में एक शानदार शतक लगाया था। जिसके लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया था। हालांकि तीसरे टेस्ट की पहली पारी में राहुल मात्र 12 रन ही बना सके हैं। अब उनसे दूसरी पारी में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद लगाई जा रही हैं।