बॉल टेम्परिंग मामले में हरभजन सिंह ने आखिर क्यों बदला अब अपना बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

बॉल टेम्परिंग मामले में हरभजन सिंह ने आखिर क्यों बदला अब अपना बयान

Harbhajan Singh
Harbhajan Singh. (Photo Source: Twitter)

क्रिकेट जगत में ऐसा शायद पहली बार हुआ है कि ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम को इतनी अधिक आलोचना का शिकार होना पड़ा हो क्योंकि वह इस खेल के प्रति काफी अधिक अग्रेसिव रहते है और कोई भी टीम उनके खिलाफ खेलने में अधिक दबाव को महसूस करती है लेकिन इस समय इस टीम के साथ जो हुआ है उसके बाद आलोचना हर तरफ से इन्हें झेलनी पड़ रही है.

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में तीसरे टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलिया कप्तान स्टीव स्मिथ ने गेंद के साथ छेड़छाड़ करने की योजना को बनाया था जिसके बाद उन्होंने इसके लिए कैमरून बेनक्रॉफ्ट को चुना था लेकिन जिस समय कैमरून इस हरकत को अंजाम दे रहे थे उन्हें कैमरे की नजरों ने पकड लिया और यहीं से ऑस्ट्रेलिया टीम को शक के कटघरे में खड़े होने को मजबूर होना पड़ा.

दिन का खेल खत्म होने के बाद जब स्टीव स्मिथ ने प्रेस कांफ्रेस में आकर इस बात को काबुल कर लिया कि उन्होंने बॉल टेम्परिंग करने की योजना को बनाया था, और इस मामले की वह अपने उपर पूरी जिम्मेदारी लेते है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस मामले में तीन खिलाड़ी स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बेनक्रॉफ्ट को दोषी मानते हुए उनके उपर सज़ा के रूप में बैन लगा दिया.

आईसीसी के निर्णय पर हरभजन से उठायें थे सवाल

बॉल टेम्परिंग मामले में जब आईसीसी में एक्शन लिया तो उन्होंने स्टीव स्मिथ को एक टेस्ट मैच और मैच फीस को पूरा काटने का आदेश दिया साथ ही कैमरून बेनक्रॉफ्ट की मैच फीस भी काटी गयीं जिसके बाद हरभजन सिंह ने आईसीसी के इस निर्णय का विरोध करते हुए अपना गुस्सा ट्विटर पर निकाला और लिखा कि इतनी बड़ी हरकत के लिए सिर्फ इतनी सज़ा आईसीसी का हर इंसान के लिए एक अलग नियम होता है. साथ ही हरभजन से आईसीसी से मिली उनकी सजा का भी जिक्र इस ट्विट में किया था.

हरभजन का आईसीसी के निर्णय के बाद का ट्विट

अब बदला बयान

हरभजन सिंह ने अब अपने इस बयान को बदलते हुए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के निर्णय को काफी गलत बताया है जिसमे उन्होंने इस बार ट्विट करते हुए लिखा कि “बॉल टेम्परिंग करने पर 1 साल का बैन आप मजाक कर रहे है क्या उन्होंने कोई आपराधिक जुर्म नहीं किया है. किसी को भो 1 साल के लिए खेल से दूर करना ये बिल्कुल ही गलत बात है आप उन्हें 1 या 2 टेस्ट सीरिज के लिए बैन कर सकते थे जो ठीक भी होता लेकिन ये बिल्कुल ही गलत है.”

हरभजन का क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बयान के बाद का ट्विट