टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में हार्दिक पांड्या के गेंदबाजी ना करने से भारतीय टीम के लिए हो सकता नुकसानदायक - आकाश चोपड़ा - क्रिकट्रैकर हिंदी

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में हार्दिक पांड्या के गेंदबाजी ना करने से भारतीय टीम के लिए हो सकता नुकसानदायक – आकाश चोपड़ा

हार्दिक के गेंदबाजी ना करनी की वजह से भारतीय कप्तान कोहली ने अभ्यास मैच में किया गेंदबाजी का अभ्यास।

Hardik Pandya. (Photo Source: Twitter)
Hardik Pandya. (Photo Source: Twitter)

आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2021 के सुपर-12 के मैच शुरू होने में अब अधिक समय नहीं बचा है। लेकिन इससे पहले भारतीय टीम के लिए सिर्फ जो एक चिंता की बात सामने आ रही है वह हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या का अभी तक एक भी ओवर गेंदबाजी ना करना। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2021 सीजन के दूसरे फेज में भी हार्दिक ने एक भी ओवर गेंदबाजी नहीं की वहीं टी-20 वर्ल्ड कप के दोनों वॉर्म अप मुकाबलों में भी वह सिर्फ एक बल्लेबाज की हैसियत से खेलते हुए दिखाई दिए।

जिसके चलते मौजूदा भारतीय टीम में इस समय रवींद्र जडेजा ही एकमात्र ऐसे हरफनमौला खिलाड़ी बचे हैं, जो गेंद और बल्ले दोनों से टीम के लिए योगदान दे सकते हैं। हार्दिक के गेंदबाजी ना करने से भारतीय टीम के संतुलन पर भी काफी प्रभाव पड़ सकता है। इसी को लेकर पूर्व भारतीय ओपनिंग बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने भी चिंता व्यक्त की है, जिसमें उन्होंने कहा कि हार्दिक के गेंदबाजी ना करने से टी-20 वर्ल्ड कप में उनकी जगह पर कप्तान कोहली इस जिम्मेदारी को निभा सकते हैं।

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच के दौरान कोहली ने 2 ओवर गेंदबाजी करते हुए 12 रन दिए हालांकि उनके हाथ एक भी विकेट नहीं लगा। चोपड़ा के अनुसार भारतीय कप्तान प्रत्येक मैच में इस जिम्मेदारी को नहीं निभा सकते हैं।

यदि हार्दिक कुछ ओवर करते हैं तो भारतीय टीम को मिलेगा काफी फायदा

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो में कहा कि, हार्दिक पांड्या का गेंदबाजी ना करना भारतीय टीम के लिए काफी बड़ी चिंता की बात है। क्योंकि इससे मैच में भारतीय टीम के पास सिर्फ 5 गेंदबाज ही बचेंगे और 6वें विकल्प के तौर पर कोई नहीं होगा। विराट कोहली गेंदबाजी कर सकते हैं, लेकिन 2016 में हम सभी ने देखा था कि इससे टीम को कितना बड़ा नुकसान उठाना पड़ा। यदि हार्दिक कुछ ओवर गेंदबाजी करना शुरू करते हैं तो यह भारतीय टीम के लिए काफी अच्छी बात होगी। टी-20 फॉर्मेट में आपके पास एक अतिरिक्त गेंदबाजी विकल्प का होना काफी अच्छा होता है।

वहीं चोपड़ा के अनुसार रवि अश्विन भारतीय टीम के लिए पहली पसंद के स्पिन गेंदबाज नहीं होंगे जिनको प्लेइंग इलेवन में जगह दी जाए। उन्होंने कहा कि मैं अश्विन को उसी समय टीम में देख रहा हूं जब भारतीय टीम 3 स्पिन गेंदबाजों के साथ खेलने का फैसला करती है या फिर विपक्षी टीम में काफी सारे बाएं हाथ के खिलाड़ी मौजूद हों। जडेजा की टीम में जगह पूरी तरह से पक्की है।