हरिस रउफ ने बताया कैसे उनकी योजना के चलते पाकिस्तान ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथा T20I मैच जीता - क्रिकट्रैकर हिंदी

हरिस रउफ ने बताया कैसे उनकी योजना के चलते पाकिस्तान ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथा T20I मैच जीता

पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड T20I सीरीज इस समय 2-2 से टाई है, और अगला मैच 28 सितंबर को लाहौर में खेला जाएगा।

Haris Rauf (Image Source: Twitter)
Haris Rauf (Image Source: Twitter)

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हरिस रउफ ने खुलासा किया कि कैसे उन्होंने 25 सितंबर को कराची के नेशनल स्टेडियम में खेले गए चौथे T20I मैच के दौरान इंग्लैंड के खतरनाक बल्लेबाज लियाम डॉसन के विकेट की योजना बनाई थी। आपको बता दें, पाकिस्तान क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम के खिलाफ यह मैच मात्र तीन रनों से जीतकर जारी सात मैचों की T20I सीरीज 2-2 से बराबर की थी।

लियम डॉसन ने 18वें ओवर में मोहम्मद हसनैन के खिलाफ चार चौके और एक छक्का लगाकर चौथा T20I मैच लगभग इंग्लैंड के लिए जीत ही लिया था, क्योंकि मेहमान टीम को अब जीत के लिए अंतिम दो ओवरों में केवल नौ रन चाहिए थे, लेकिन हरिस रउफ ने मैच की कहानी की बदल दी।

पाकिस्तान के दाएं-हाथ के तेज गेंदबाज को 19वें में गेंद थमाई गई। जब इंग्लैंड को जीत के लिए 167 रनों का पीछा करते हुए दस गेंदों पर मात्र पांच रनों की जरुरत थी, उन्होंने लियम डॉसन के खिलाफ तेज गति से एक छोटी गेंद फेंकी, और वह इसे सीधे मिड-विकेट पर खेले हुए इस ओवर की तीसरी गेंद पर अपना विकेट गंवा बैठे।

हरिस रउफ (3/32) को शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया

रउफ ने डॉसन (34) के विकेट के बाद अगली ही गेंद पर ऑली स्टोन (0) को अपना शिकार बनाया, और फिर शान मसूद ने अंतिम ओवर में रीस टोप्ले (0) के रूप में दसवां विकेट लेकर पाकिस्तान को यह रोमांचक मैच तीन रनों से जीतने में मदद की। अब यह T20I सीरीज 2-2 से टाई है, और अगला मैच 28 सितंबर को लाहौर में खेला जाएगा।

हरिस रउफ ने मैच के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान कहा: “हम अल्लाह के शुक्रगुजार हैं कि पाकिस्तान यह मैच जीत पाया, क्योंकि यह इंग्लैंड के खिलाफ जारी सात मैचों की T20I सीरीज का एक महत्वपूर्ण मैच था। हम एक टीम के रूप में कभी हार नहीं मानते और हमारी टीम का हर खिलाड़ी मैदान में अपना 100 प्रतिशत दें रहा है। मैंने पाकिस्तान के कभी न हार मानने वाले रवैये के साथ गेंदबाजी की और हम मैच जीत गए।”

स्टार तेज गेंदबाज ने आगे कहा: “लियम डॉसन ने मोहम्मद हसनैन के ओवर से काफी रन बटोरे थे। चूंकि मैं भी मैदान पर ही था, इसलिए मैं पहले से ही इंग्लैंड के बल्लेबाज के खिलाफ योजना बना रहा था, जिस कारण मुझे पता था कि मुझे उसके खिलाफ कहां गेंदबाजी करनी चाहिए। मेरी योजना डॉसन का विकेट लेने और मैच के रुख को पाकिस्तान की ओर मोड़ना था, क्योंकि वह इंग्लैंड के लिए मैच जीत सकते थे। अल्हमदुलिल्लाह (भगवान का शुक्र है) कि मुझे अपनी योजना के अनुसार डॉसन को आउट करने में कामयाबी मिली। मुझे अपनी क्षमताओं पर पूरा भरोसा था और मैं जानता था कि अगर मैं अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंद फेंकूंगा, तो हम यह मैच जीत जाएंगे, और वही हुआ।”