जसप्रीत बुमराह ने कहा- मैं अब आलोचना करने वालों को इस तरह देता हूं जवाब - क्रिकट्रैकर हिंदी

जसप्रीत बुमराह ने कहा- मैं अब आलोचना करने वालों को इस तरह देता हूं जवाब

(Photo by LAKRUWAN WANNIARACHCHI/AFP/Getty Images)
(Photo by LAKRUWAN WANNIARACHCHI/AFP/Getty Images)

टीम इंडिया के युवा तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह की गेंदबाज़ी का हर कोई फैन है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जसप्रीत बुमराह ने जिस तरह गेंदबाज़ी की है। उससे हर कोई अच्छी तरह वाकिफ़ है। इंजरी के कारण जसप्रीत बुमराह न्यूज़ीलैंड सीरीज़ में नहीं खेल पाए थे। जसप्रीत बुमराह अब ऑस्ट्रेलिया टीम के खिलाफ घरेलू सीरीज़ में वापसी करेंगे।

इंग्लैंड में होने वाले 2019 वर्ल्ड कप के लिए जसप्रीत बुमराह टीम इंडिया के लिए उसकी गेंदबाज़ी की सबसे मजबूत कड़ी होंगे। क्रिकबज़ खेल वेबसाइट को दिए गए इंटरव्यू में जसप्रीत बुमराह ने अपने जीवन से जुड़ी कई अहम बातों के बारे में ज़िक्र किया। इस दौरान उन्होंने सटीक यॉर्कर गेंद फेंकने के बारे में भी बताया। इसके साथ ही उन्होंने बेबाकी से अपनी बात रखी।

मैं खुद नहीं बोलता, मेरी गेंदबाज़ी बोलती है

जसप्रीत बुमराह ने बताया कि जब वह बचपन में क्रिकेट खेलते थे तो वह टेनिस बॉल से गेंदबाज़ी करते थे। उन्होंने बताया कि जिस पिच पर वह आमतौर पर गेंदबाज़ी करते थे वह सीमित लंबाई तक होती थी। इसलिए वहां दूसरी कोई डिलीवरी करने का सवाल नहीं था।

इसलिए वह रन बचाने के लिए और बल्लेबाज़ों को आउट करने के लिए केवल यॉर्कर गेंद ही फेंकते थे। जिसके बाद वह इस काम में माहिर हो गए। टीम इंडिया में आने के बाद उन्हें इस चीज का लाभ मिला और उनका यह हुनर टीम के लिए काफी काम आया। जसप्रीत बुमराह ने कहा कि कई बार उन्हें कई कारणों के चलते अपनी आलोचनाएं भी सुननी पड़ती हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि मैं इनपर कोई प्रतिक्रिया नहीं देता बल्कि मेरी गेंदबाज़ी जवाब देती है।

टीम इंडिया के लिए महत्वपूर्ण हैं बुमराह

आईपीएल में जसप्रीत बुमराह ने जब यॉर्कर गेंद फेंकना शुरु की थीं। उसके बाद हर किसी ने उन्हें नोटिस किया था। आईपीएल में अंतिम ओवरों में गेंदबाज़ी करते हुए बुमराह 6 में से चार गेंद लगातर यॉर्कर कर देते थे।

जिससे बल्लेबाज़ भी रन नहीं बना पाते थे। टीम इंडिया में मौका मिलने के बाद बुमराह ने इस हुनर का बखूबी इस्तेमाल किया और टेस्ट मैचों में अपनी सटीक यॉर्कर से बल्लेबाज़ों को आउट किया। इंटरव्यू में बुमराह ने माना कि वह खुद को खुशकिस्मत समझते हैं कि वह टीम इंडिया तक सफर तय कर पाए।