रॉब की ने टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड की सफलता पर जताया आश्चर्य; बैजबॉल टर्म को लेकर कही बड़ी बात - क्रिकट्रैकर हिंदी

रॉब की ने टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड की सफलता पर जताया आश्चर्य; बैजबॉल टर्म को लेकर कही बड़ी बात

रॉब की ने कहा इंग्लैंड को ब्रेंडन मैकुलम जैसे सख्त लीडर की ही जरूरत थी!

Brendon McCullum and Ben Stokes (Image Source: Getty Images)
Brendon McCullum and Ben Stokes (Image Source: Getty Images)

इंग्लैंड क्रिकेट के प्रबंध निदेशक रॉब की बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैकुलम के नेतृत्व में इंग्लैंड की टेस्ट टीम द्वारा की गई प्रगति और शानदार प्रदर्शन से बेहद प्रभावित हैं। रॉब की ने स्वीकार किया कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि स्टोक्स और मैकुलम को टेस्ट टीम का कप्तान और मुख्य कोच नियुक्त किए जाने का फैसला इस हद तक काम करेगा।

आपको बता दें, जब से बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैकुलम ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम की बागडोर संभाली है, उन्होंने अब तक खेले चारों टेस्ट मैच जीते हैं। इंग्लैंड की टेस्ट टीम ने अब तक निडर होकर खेला है, उनकी आक्रामकता और सकारात्मकता ने उनकी सफलता में अहम भूमिका निभाई है।

बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैकुलम की जोड़ी ने कमाल कर दिया है: रॉब की

रॉब की ने बीबीसी टेस्ट मैच स्पेशल पर कहा: “मैंने कभी नहीं सोचा था कि बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैकुलम को टेस्ट टीम की कमान सौंपे जाने का फैसला इतना शानदार और इतनी जल्द काम करेगा। हम सभी को इस बात के लिए तैयार रहना चाहिए कि हमारी यह नई आक्रामक अप्रोच हर बार काम नहीं करेगी, लेकिन अब तक सब कुछ शानदार रहा है। मैं बैजबॉल टर्म को लेकर बहुत ज्यादा पागल नहीं हूं, हालांकि, मैं इसका आनंद लेता हूं क्योंकि यह उस विकास को दर्शाता है, जो हमारी टीम ने बेन और ब्रेंडन ने नेतृत्व में हासिल किया है।”

इंग्लैंड क्रिकेट के प्रबंध निदेशक ने आगे कहा: “ब्रेंडन मैकुलम और बेन स्टोक्स ने जिस तरह खिलाड़ियों से बात की है, वे चीजों को लेकर व्यवस्थित और आश्वस्त थे, और इसी ने हमारे लिए कमाल किया है। उनकी सकारात्मक और आक्रामक सोच से टीम पर काफी प्रभाव पड़ा है, और इसका असर हम टेस्ट टीम के प्रदर्शन में देख सकते है। यह टीम मैदान पर विरोधियों पर केवल हावी होना जानती है।”

रॉब की ने अंत में कहा: “मैंने ये चीज महसूस की कि इंग्लैंड की टेस्ट टीम को किसी ऐसे व्यक्ति की जरुरत है जो समय-समय पर उन पर सख्त हो, और साथ ही उन्हें आगे बढ़ने का जज्बा दें और उन पर से दबाव कम, और ये काम ब्रेंडन मैकुलम से बेहतर कोई और नहीं कर सकता था, क्योंकि वह पहले ही एक सख्त लीडर रह चूका है।”